Home » उपराष्ट्रपति बोले- स्वस्थ रहना भी देश की सबसे बड़ी सेवा, मुख्यमंत्री ने कहा- योग विश्व कल्याण के लिए है

उपराष्ट्रपति बोले- स्वस्थ रहना भी देश की सबसे बड़ी सेवा, मुख्यमंत्री ने कहा- योग विश्व कल्याण के लिए है

उप राष्ट्रपति के साथ राष्ट्रीय आयोजन में जबलपुर में मुख्यमंत्री ने किया योग

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर जबलपुर में आयोजित राष्ट्रीय समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भारत का आज नहीं हजारों वर्षों पहले से सन्देश है अयं निज: परो वेति गणना लघुचेतसाम्, उदार चरितानां तु वसुधैव कुटुंबकम्। ये मेरा और तेरा है ये सोच छोटे दिल वालों की होती है, लेकिन जो विशाल हृदय के होते है वो तो कहते है पूरा विश्व ही मेरा परिवार है। योग केवल योग दिवस पर ही नहीं करना है, बल्कि रोज करना है।

मध्यप्रदेश में हमने फैसला किया है कि विद्यालयों में योग की शिक्षा अनिवार्य की जाएगी। योग का किसी पंथ से सम्बन्ध नहीं है योग तो विश्व कल्याण के लिए है। आओ मित्रों हम संकल्प लें आज योग करें और प्रतिदिन भी योग करेंगे। भारत ने कहा है कि प्राणियों में सद्भावना हो, बुराईयों का अंत हो, धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो, प्राणियों में सद्भावना हो और विश्व का कल्याण हो, ये भारत का मूलमंत्र है।

निरोगी रहने योग से बड़ा साधन कोई नहीं

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विश्व के कल्याण के लिए हमारे ऋषियों ने कहा सबका मंगल हो, सबका कल्याण हो, लेकिन कल्याण की पहली शर्त है पहला सुख निरोगी काया, यदि निरोग रहना है तो योग से बड़ा साधन दुनिया में कोई नहीं है। आज महर्षि पतंजलि के चरणों में भी प्रणाम करता हूं जिन्होंने अष्टांग योग पूरी दुनिया को दिया है।
रामचंद्र मिशन ने जनअभियान परिषद के साथ मिलकर दाजी के नेतृत्व में 40 हजार 136 गांव में योग का प्रशिक्षण दिसया है, उनका धन्यवाद।

पूरा विश्व योगमय हो गया

मुख्यमंत्री ने कहा कि जबलपुर योगमय है, देश योगमय है और अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरा विश्व योगमय हो गया है, भारत आज पूरी दुनिया में छाया हुआ है। प्रधानमंत्री स्वयं आज अमेरिका में योग का नेतृत्व कर रहे हैं, हम प्रधानमंत्री को ह्रदय से धन्यवाद करते हैं। भारत की विधा जो विश्व के कल्याण के लिए है उसको दुनिया के जन-जन के मन में पहुंचाया है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने।

स्वस्थ रहना भी देश की सबसे बड़ी सेवा है

योग दिवस के राष्ट्रीय आयोजन को संबोधित करते हुए देश के उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि स्वस्थ रहना भी देश की सबसे बड़ी सेवा है। मां नर्मदा के तट पर रानी दुर्गावती की ऐतिहासिक भूमि पर आकर में धन्य महसूस कर रहा हूं, अभिभूत हूं। प्रदेश में कल आगमन पर मां नर्मदा आरती में सम्मिलित होकर नर्मदा स्वच्छता का संकल्प लिया प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हम सभी को योग दिवस समपर्ण का पूरा संकल्प लेना चाहिए।

योग एक दिन का नहीं है हर दिन है

भेड़ाघाट क्षेत्र में बंदर कूदनी और धुआंधार के बीच से मध्यप्रदेश की संस्कारधानी से मैं अपने देश के भाईयों और विश्व समुदाय से विश्व एकता के प्रतिक योग को अपनाने का आह्वान करता हूं। ये दिवस विश्व बंधुत्व का दिवस है ये हमारी सोच वसुधैव कुटुंबकम को परिलक्षित करता है। इस वर्ष अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम वसुधैव कुटुंबकम के लिए योग जो कि हमारी साझा आकांक्षा का अर्थ वन अर्थ, वन फैमिली का प्रतिक है। विश्व में भारत जी-20 की अध्यक्षता में ख्याति प्राप्त कर रहा है, इसकी थीम भी यही है।

योग वैश्विक इवेंट बन चुका है, हर भारतवासी के लिए गौरव की बात है, कि प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में योग दिवस 21 जून को मनाया जा रहा है, जिसमे 175 से ज्यादा देशों ने सहभागिता की है।

योग हमारी संस्कृति का सदियों से अभिन्न हिस्सा

उप राष्ट्रपति ने कहा कि योग हमारी संस्कृति का सदियों से अभिन्न हिस्सा रहा है। योग किसी व्यक्ति के लिए मात्र नहीं है योग तो पूरे विश्व के लिए है। योग मन शरीर और आत्मा को मजबूत बनाता है, स्वस्थ जीवन की पूंजी है। योग जीवन बीमा है जीरो बजट का इसे सभी को अपने जीवन में प्रयोग में लाना चाहिए। मेरे जीवन के सबसे यादगार पल है, भारत बदल रहा है, भारत दुनिया में बहुत बड़ा स्थान ले चुका है।

Vice President said- Staying healthy is also the biggest service to the country, Chief Minister said- Yoga is for the welfare of the world.

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd