Home » निरस्त और स्थगित परीक्षाओं पर असमंजस बरकार, अभिभावक, बच्चे और शिक्षक परेशान

निरस्त और स्थगित परीक्षाओं पर असमंजस बरकार, अभिभावक, बच्चे और शिक्षक परेशान

नई तारीख के ऐलान में देरी पर शिक्षक संगठन और प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने जताया विरोध

भोपाल। राज्य शिक्षा केंद्र (आरएसके) द्वारा आयोजित कराई जा रही परीक्षाओं को लेकर असमंजस की स्थिति निर्मित हो गई है। एक ओर 5वीं 8वीं की निरस्त और स्थगित परीक्षाओं की नई तारीखें अब तक घोषित नहीं हुई हैं, वहीं दूसरी ओर अब कक्षा 3, 4, 6 एवं 7 की परीक्षा कार्यक्रम में भी संशोधन कर दिया गया है। जबकि स्कूलों में नए सत्र में प्रवेश की तैयारी शुरू हो गई है। राज्य शिक्षा केन्द्र ने आरटीई की लॉटरी निकालने के बाद इसके तहत प्रवेश की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। ऐसे में आधी-अधूरी परीक्षाओं के बीच अभिभावक, शिक्षक और बच्चे परेशान हो रहे हैं।

शिक्षक संगठन और प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने भी इस पर विरोध जताया है। इनका कहना है कि बीच में ही परीक्षा स्थगित होने और स्थानीय परीक्षाऐं आगे बढऩे से बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों के मंसूबों पर विभाग ने पानी फेर दिया है। कई परिवारों ने पारिवारिक कार्यक्रमों तथा अन्य कार्यो से रिजर्वेशन करा लिए थे, अब उन्हें केंसिल कराना पड़ रहा है। इन परीक्षाओं से निवृत्त होकर शिक्षकों को नवीन शिक्षा सत्र की तैयारी में जुटना है, लेकिन स्थित स्पष्ट नहीं हो पा रही है।

24.72 लाख विद्यार्थी दे रहे हैं परीक्षा

विदित हो कि इस वर्ष प्रदेश में सभी स्कूलों की कक्षा 5वीं एवं 8वीं की परीक्षाएं बोर्ड पैटर्न पर हो रही हैं। प्रदेश में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 5वीं कक्षा के कुल 8 लाख 15 हजार 567 परीक्षार्थी हैं। इसके अलावा, निजी स्कूलों के 4 लाख 57 हजार 678 और मदरसा का 6 हजार 368 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हैं। उधर, 8वीं में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले 7 लाख 98 हजार 147, प्राइवेट स्कूलों के 3 लाख 90 हजार 85 और मदरसों के 5 हजार 73 विद्यार्थी हैं। इस प्रकार प्रदेश में कुल 24 लाख 72 हजार 918 स्टूडेंट को प्रवेश पत्र जारी किया गया है।

राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा 3 अप्रैल की 5वीं और 8वीं की परीक्षा भी स्थगित कर दी है। इसके साथ ही 1 अप्रैल को हुए संस्कृत के पेपर के लीक हो जाने के बाद उसे निरस्त कर दिया गया है। लेकिन अभी तक इन स्थगित और निरस्त पेपरों की संशोधित तारीख आरएसके द्वारा जारी नहीं की गई है। इसके चलते यह परीक्षाएं भी अटकी हुई हैं।

कक्षा 3 4 6 एवं 7 की परीक्षा में अब 8 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच

इसी बीच अब राज्य शिक्षा केन्द्र ने एक बार फिर सरकारी स्कूलों के स्थानीय परीक्षा सत्र 2022-23 कक्षा 3 4 6 एवं 7 के लिए संशोधित समय-सारणी जारी कर दी है। विभागीय जानकारों की माने तो कक्षा 3 4 6 एवं 7 के लिए संशोधित समय-सारणी जारी करने के कारण प्रश्नपत्रों का मुद्रण नहीं होना बताया जा रहा है। आरएसके ने एक आदेश जारी कर कहा गया है कि कुछ जिलों द्वारा कतिपय कारणों से प्रश्नपत्र सह उत्तरपुस्तिकाओं के मुद्रण में विलंब हुआ है।

इसलिए पूर्व निर्धारित समय-सारणी अनुसार परीक्षा आयोजित करने में कठिनाई होगी। अत: समय-सारणी को संशोधित किया जा रहा है। आदेश में सभी जिलों को सूचित किया गया है कि संशोधित समय सारणी अनुसार स्थानीय वार्षिक परीक्षा (कक्षा 3,4,6,7 ) का आयोजन 8 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। आरएसके ने स्पष्ट किया है कि जिन शालाओं को स्थानीय परीक्षा के प्रश्नपत्रों के पैकेट प्राप्त हो चुके हैं, उनकी परीक्षाएं भी संशोधित समय सारणी के अनुसार ही कराई जाएंगी।

Confusion over canceled and postponed examinations, parents, children and teachers upset.

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd