Home » स्वदेश विशेष: प्रदेश के पांच पत्रकारों को मिलेगा 2023 का देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार, स्वदेश के दीपेश कौरव भी होगें सम्मानित

स्वदेश विशेष: प्रदेश के पांच पत्रकारों को मिलेगा 2023 का देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार, स्वदेश के दीपेश कौरव भी होगें सम्मानित

विश्व संवाद केंद्र मध्यप्रदेश ने वर्ष 2023 के देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कारों की घोषणा कर दी है। केंद्र को मिली प्रविष्टियों में से इस वर्ष पुरस्कार के लिए प्रदेश के पांच पत्रकारों को चुना गया है। वहीं वरिष्ठ पत्रकार एवं संपादक रमेश शर्मा को देवर्षि नारद सार्थक जीवन (पत्रकारिता) सम्मान प्रदान किया जाएगा।
विश्व संवाद केंद्र प्रतिवर्ष विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित करता है। इनमें पर्यावरण, इतिहास, सामाजिक सरोकार, खोजी पत्रकारिता, संस्कृति, सामाजिक समरसता और प्राप्त समाचारों में से पुरस्कारों हेतु पत्रकारों की दो स्तरों वाली निर्णायक समिति निर्णय करती है। देवर्षि नारद जयंती पर 7 मई को रवींद्र भवन में आयोजित समारोह में चयनित पत्रकारों को पुरस्कार और सम्मान प्रदान किए जाएंगे।

दीपेश कौरव : पर्यावरण एवं शिक्षा के संबंध में विशेष समाचार(स्वदेश)
नरसिंहपुर निवासी दीपेश कौरव 7 वर्षों से भोपाल में पत्रकारिता में सक्रिय हैं। वे विभिन्न समाचार पत्रों में कार्य कर चुके हैं। वे वर्तमान में स्वदेश समाचार पत्र में कार्र्यं कर रहे हैं। स्वदेश में ही प्रकाशित विद्याभारती द्वारा संचालित शारदा विहार विद्यालय के संबंध में उनके समाचार ‘गोबर से तैयार 45 किलो सीएनजी से चलते हैं वाहन, रसोई में लगने वाली गैस का खर्च भी आधा हुआ’ हेतु उन्हें पुरस्कार के लिए चुना गया है।

रमेश शर्मा : देवर्षि नारद सार्थक जीवन (पत्रकारिता) सम्मान :
वरिष्ठ पत्रकार रमेश शर्मा पत्रकारिता के क्षेत्र में एक सुपरिचित नाम हैं। लगभग 52 वर्ष के पत्रकारीय जीवन में उन्होंने प्रिंट और इलेक्ट्रानिक दोनों माध्यमों में कार्य किया है। वे दैनिक जागरण भोपाल, राष्ट्रीय सहारा दिल्ली सहारा न्यूज चैनल एवं वॉच न्यूज मध्यप्रदेश छत्तीसगढ प्रभारी रहे हैं। स्वतंत्र पत्रकार के रूप में शर्मा विभिन्न समाचार पत्रों में स्वाधीनता संग्राम, राष्ट्र, संस्कृति, सामाजिक समरसता जैसे विषयों पर नियमित आलेख लिखते हैं।

आकाश माथुर : नसरुल्लागंज का नाम भैरुंदा करने अभियान चलाया
सीहोर के युवा पत्रकार आकाश माथुर को ‘नसरुल्लागंज नहीं भैरुदा नाम हो’ समाचार श्रृंखला के महत्वपूर्ण कार्य के लिए इस वर्ष देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार के लिए चुना गया है। नवदुनिया समाचार पत्र से जुड़े माथुर ने फ रवरी 2022 से समाचार प्रकाशन का अभियान प्रारंभ किया जो इस वर्ष फरवरी तक चला। सरकार ने भी जनभावनाओं को समझा और नसरुल्लागंज नगर को उसका पूर्व नाम भैरूंदा पुन: प्राप्त हुआ।

डॉ अजय खेमरिया : सीएसआर फं ड के लिए एनजीओ का गठजोड़ सामने लाए
शिवपुरी के डॉ. अजय खेमरिया 20 वर्षो से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। वे विभिन्न समाचार पत्रों में कार्य कर चुके हैं। उनके आलेख विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं। डॉ. खेमरिया को उनके खोजपरक समाचार Ó40 हजार एनजीओ और 1.26 लाख करोड़ का सीएसआर’ हेतु उन्हें देवर्षि नारद पुरस्कार के लिए चुना गया है।

राहुल शर्मा : सांची के स्तूप की प्रतिमा और पत्थरों के बारे में नई जानकारी दी
भोपाल के राहुल शर्मा 16 वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं और वर्तमान में दैनिक भास्कर में विशेष संवाददाता के रूप में कार्य कर रहे हैं। 6 मार्च 2023 को दैनिक भास्कर में प्रकाशित उनके समाचार ‘सांची के स्तूप स्थानीय पत्थरों से बने, लेकिन चार सिंहों की प्रतिमा 2200 साल पहले यहां से 733 किमी दूर चुनार के सैंड स्टोन से बनीÓ शीर्षक समाचार के लिए इतिहास श्रेणी में पुरस्कार के लिए चुना गया है।

श्याम सिंह तोमर : हिंदी भाषा को लेकर प्रमुख समाचार लिखे
श्याम सिंह तोमर पिछले 18 वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। वर्तमान में पत्रिका समाचार पत्र में कार्य कर रहे तोमर शिक्षा एवं संस्कृति विषयों पर प्रमुखता से लिखते हैं। ‘स्कूलों में सिखाएंगे 22 भाषाओं के संस्कारवान शब्दÓ, और ‘बच्चों! अब फ्रि क्वेंसी होगी आवृत्ति तो एमप्लीट्यूड को लिखेंगे आयाम…के लिए उन्हें पुरस्कार के लिए चयन किया गया है।

Related News

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd