Home खास ख़बरें बॉलीवुड के तीनों ‘खान’ चुप क्यों? नसीरुद्दीन शाह बोले- उनके पास खोने...

बॉलीवुड के तीनों ‘खान’ चुप क्यों? नसीरुद्दीन शाह बोले- उनके पास खोने के लिए बहुत कुछ है

74
0

नई दिल्ली। बॉलीवुड के एक्टर नसीरुद्दीन शाह भारती मुसलमानों पर दिए गए अपने बयानों को लेकर एक बार फिर चर्चा में हैं। अब उन्होंने बॉलीवुड के तीनों खान सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने बताया कि आखिर क्यों किसी मुद्दे पर ये तीनों खान चुप रहते हैं। नसीरुद्दीन शाह बॉलीवुड के खान पर निशाना साधते हुए कहा कि दरअसल, ये लोग इतने बड़े कलाकार हैं कि देश के जरूरी मुद्दे पर नहीं बोलते। ऐसा इसलिए क्योंकि उन लोगों के पास खोने के लिए काफी कुछ है।

मंगलवार को एक इंटरव्यू में नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि मैं कुछ भी कहने वाला कौन होता हूं लेकिन अपनी उपलब्धियों और प्रयासों पर अधिक विश्वास होना चाहिए, जो उनके पास नहीं है। ज्यादा से ज्यादा क्या होगा एक या दो इंडोर्समेंट का नुकसान होगा। ऐसा नहीं है। नसीरुद्दीन ने कहा कि वह उनके लिए बोल नहीं सकते लेकिन कल्पना कर सकते हैं कि उनका कितना उत्पीड़न किया जाएगा।

बॉलीवुड खान के पास खोने के लिए बहुत कुछ है

नसीरुद्दीन ने आगे कहा कि वे (खान) इस बात से चिंतित रहते हैं कि उनके साथ किस तरह का अत्याचार होगा। उनके पास खोने के लिए बहुत कुछ हैं। नसीरुद्दीन शाह ने आगे कहा कि इसलिए मुझे लगता है कि मैं बोल सकता हूं, मेरे पास खोने के लिए बहुत कुछ नहीं है। अभिनेता ने कहा कि फिल्म उद्योग में स्वतंत्र रहने की शक्ति है और काश उनके पास ऐसा करने के लिए पर्याप्त साहस होता। लेकिन वे (खान) हार मान रहे हैं क्योंकि उनके हित बहुत बड़े और बहुत विविध हैं और उनके पास खोने के लिए बहुत कुछ है और वे आसान लक्ष्य हैं।

तालिबान पर उनकी टिप्पणियों को गलत समझा गया

अपनी बेबाकी के लिए जाने जाने वाले शाह ने बढ़ती दक्षिणपंथी कट्टरता के खिलाफ भी चेतावनी दी। उन्होंने स्पष्ट किया कि तालिबान के उदय का जश्न मनाने वाले भारतीय मुसलमानों के एक वर्ग के बारे में उनकी टिप्पणियों को समुदाय द्वारा गलत समझा गया। उन्होंने कहा कि मेरा बोलने का मतलब पूरे मुस्लिम समुदाय से नहीं था, जो कि इच्छुक पार्टियों द्वारा इसकी व्याख्या की जा रही है।

क्या कहा था नसीरुद्दीन शाह ने?

उल्लेखनीय है कि बॉलीवुड ऐक्टर नसीरुद्दीन शाह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। इस वीडियो में उन्होंने तालिबान की जीत पर जश्न मना रहे हिंदुस्तानी मुसलमानों की आलोचना की थी। क्लिप में नसीर ने कहा है कि वह एक हिंदुस्तानी मुस्लिम हैं और हिंदुस्तानी इस्लाम दुनियाभर के इस्लाम से अलग खुदा न करे कि ऐसा वक्त आए कि हम उसे पहचान भी न सकें।

वीडियो क्लिप में नसीर कहते हैं, हालांकि अफगानिस्तान में तालिबान का दोबारा हुकूमत पा लेना दुनिया भर के लिए फिक्र की बात है इससे कम खतरनाक नहीं है हिंदुस्तानी मुसलमानों के कुछ तबकों का उन वहशियों की वापसी पर जश्न मनाना। आज हर हिंदुस्तानी मुसलमान को अपने आप से ये सवाल पूछना चाहिए कि उसे अपने मजहब में सुधार और मॉडर्निटी चाहिए या पिछली सदियों का वहशीपन।

Previous articleसंयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाक और ओआइसी को जमकर लगाई लताड़
Next articleदेश में सिंगल डोज स्पुतनिक लाइट वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here