Home खास ख़बरें पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के एम्स...

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के एम्स में भर्ती

46
0

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की तबीयत बिगड़ गई है। उन्हें दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती करवाया गया है। एम्स से मिली जानकारी के अनुसार, उन्हें मलेरिया हो गया है। जगदीप धनखड़ को एम्स के प्राइवेट वार्ड में भर्ती किया गया है, जहां मेडिसिन के अतिरिक्त प्रोफेसर डा. नीरज निश्चल के नेतृत्व में उनका इलाज चल रहा है।

बताया जा रहा है कि जगदीप धनखड़ बुखार होने के बाद शुक्रवार को ही दिल्ली पहुंच गए थे। शनिवार को उनका ब्लड सैंपल लेकर जांच की गई थी, जिसमें मलेरिया होने की पुष्टि हुई। इसके बाद सोमवार को दोपहर में उन्हें एम्स में भर्ती किया गया। एम्स के अनुसार उनकी हालत स्थिर है। राज्यपाल जगदीप धनखड़ के स्वास्थ्य पर डॉक्टरों की टीम लगातार नजर बनाए हुए है।

राज्यपाल जगदीप धनखड़ को हो रहा था बुखार

मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को बुखार हो रहा था। तबीयत ठीक नहीं होने के कारण वे शुक्रवार को कोलकाता से दिल्ली पहुंच गए। यहां पर उनकी खून की जांच की गई तो मलेरिया की पुष्टि हुई। इसके बाद उनको एम्स के प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट किया गया, जहां पर डॉक्टरों की टीम उनका इलाज कर रही है। उम्र अधिक होने के कारण राज्यपाल के स्वास्थ्य पर डॉक्टरों की टीम लगातार नजर रख रही है।

कौन हैं जगदीप धनखड़

जगदीप धनखड़ पश्चिम बंगाल के राज्यपाल बनने से पहले राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता थे। राजस्थान के झुझुनूं में जन्में जगदीप धनखड़ अपने बेबाक बयान के लिए जाने जाते हैं। वह राजस्थान विधानसभा के सदस्य व लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं। जगदीप धनखड़ ने 30 जुलाई 2019 से पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

इससे पहले अभी हाल में ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को एम्स में दाखिल कराया गया था। उन्हें भी बुखार हो गया था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने एम्स जाकर मनमोहन सिंह का हालचाल लिया था।

Previous articleआईपीएल 2022 में 2 नई फ्रैंचाइजी होगी लखनऊ और अहमदाबाद
Next articleदुनिया का सबसे खूंखार ड्रग्स तस्कर यूसुगा गिरफ्तार, 43 करोड़ का था इनाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here