Home खास ख़बरें मुख्यमंत्री बोले- बार-बार लॉकडाउन नहीं लगा सकते, आपको योजनाएं बनानी होंगी, कोरोना...

मुख्यमंत्री बोले- बार-बार लॉकडाउन नहीं लगा सकते, आपको योजनाएं बनानी होंगी, कोरोना कर्फ्यू में कब और कैसी ढील दी जाए, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप तय करेगा

22
0

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार सुबह प्रदेश के सभी जिलों के जिला क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक को संबोधित किया। मुख्यमंत्री आज प्रदेश के सभी जिलों के जिला क्राइसिस मैनेजमेंट गु्रप के सदस्यों के साथ कोरोना की पहली लहर, दूसरी लहर और संभावित तीसरी लहर को लेकर विदेशों के आंकड़ों का अध्ययन कर रहे हैं। मैराथन चर्चा और विचार-विमर्श के बाद शाम को मुख्यमंत्री फिर अपना संबोधन देंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना कफ्र्यू कब तक लागू रखना है, यह क्राइसिस मैनेजमेंट तय करेगा। हम हमेशा बाजार बंद नहीं रख सकते। लेकिन क्या-क्या खोलना है, कैसे खोलना है यह मैनेजमेंट ग्रुप ही तय करेगा। रविवार को प्रदेश में सिर्फ 274 पॉजिटिव मरीज आए हैं। इंदौर, भोपाल और जबलपुर में दहाई की संख्या में केस हैं। मप्र में संक्रमण दर 0.3 प्रतिशत पहुंच गई है। ब्लैक फंगस के इलाज की भी उपयुक्त व्यवस्था की गई है। प्रदेश में हम रोज 80,000 टेस्ट करेंगे। कांटेक्ट ट्रेसिंग की जाएगी। हम अपने कोविड केयर सेंटर चलाते रहेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में बार-बार लॉकडाउन नहीं लगा सकते। आपको योजनाएं बनानी होंगी। अगर कोरोना से बचने के लिए अपने कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं किया। व्यवहार में बदलाव नहीं लाए तो संक्रमण फिर बढ़ जाएगा और लॉकडाउन की स्थितियां बनेगी। कोरोना से बचने का स्थाई विकल्प बार-बार लॉकडाउन लगाना नहीं है। कोरोना तो अभी चलता रहेगा। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्यों से कहा कि कोविड उपचार योजना लागू करवाएं जो संक्रमित हैं उन सबका इलाज करवाएं।

नि:शुल्क राशन वितरण का कार्य करें, आप घूम सकते हैं, मॉनीटरिंग करें। योग से निरोग अभियान हमने अभियान चलाया, अपने क्षेत्र में हम योग को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का माध्यम बना सकते हैं। कोविड अनुकंपा नियुक्ति योजना हमने बनाई, नियुक्ति पत्र दें, कोई रह न जाये, क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी इसे देखे। मुख्यमंत्री की इस कोरोना समीक्षा व जिला क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्यों के साथ चर्चा में कोरोना प्रभारी मंत्रियों और जिलों के प्रभारी अधिकारियों को भी शामिल किया गया है। मंत्री और अधिकारीगण भी वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुड़े हैं।

योग दिवस पर छोटे-छोटे कार्यक्रम होंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को अपने गांव में शहर में योग के छोटे-छोटे कार्यक्रम कर सकते हैं। मध्य प्रदेश का क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप का मॉडल देश भर में अनुसरण किया गया। ‘जनता के लिए और जनता के द्वाराÓ निर्मित किया गया मॉडल है।

विदेशों के आंकड़े पर हो रही चर्चा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कोरोना प्रभारी मंत्रियों, प्रभारी अधिकारियों, क्राइसिस मैनेजमेंट गु्रप के सदस्यों के साथ प्रजेंटेशन के माध्यम से अमेरिका, इंग्लैंड, इटली, सिंगापुर के आंकड़ों से कोरोना की पहली, दूसरी पीक और तीसरी लहर की संभावनाओं पर चर्चा कर रहे हैं। इन देशों में कैसे कोरोना को नियंत्रण के लिए किए गए प्रयासों को समझ कर आगे की रणनीति पर काम किया जाएगा। उपरोक्त देशों के कोरोना प्रकरण, लहर का तुलनात्मक अध्ययन मध्यप्रदेश के साथ किया जा रहा है। कैसे अन्य देशों में, प्रदेश में कोरोना की स्थिति बढ़ी, नियंत्रित हुई और क्या क्या प्रयास प्रभावी हुए। इसके बाद शाम को फिर मुख्यमंत्री सभी को संबोधित करेंगे।

Previous articleधारा-370 को लेकर दिग्विजय सिंह के बयान से सहमत नहीं छोटे भाई लक्ष्मण सिंह, कहा- जम्मू-कश्मीर में धारा-370 पुन: लागू करना संभव नहीं
Next articleमोदी ने कहा- कोरोना वैक्सीन को पेटेंट फ्री किया जाए, सभी देशों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए भी सहयोग मांगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here