Home खास ख़बरें देश में कोरोना वायरस के कमजोर पड़ने के संकेत

देश में कोरोना वायरस के कमजोर पड़ने के संकेत

49
0
  • आर वैल्यू सितंबर मध्य से घटकर एक से नीचे पहुंची

नई दिल्ली। देश में धीरे-धीरे कोरोना वायरस अब कमजोर पड़ता नजर आ रहा है। इसको लेकर देश में एक अच्छा संकेत सामने आय़ा है। कोरोना वायरस को लेकर भारत की आर वैल्यू 1 से नीचे पहुंच गई है। आर वैल्यू उस मानक को कहते हैं जिससे तय होता है कि किसी वायरस का देश में कितनी तेजी से संक्रमण फैल रहा है। शोधकर्ताओं के अनुसार, आर-वैल्यू ये दर्शाता है कि कोरोना वायरस कितनी तेजी से फैल रही है। सितंबर के मध्य तक ये देश में घटकर 0.92 रह गई।

किस राज्य की कितनी आर वैल्यू?

हालांकि, अभी भी देश के प्रमुख शहरों, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु की आर-वैल्यू 1 से अधिक हैं। दिल्ली और पुणे की आर-वैल्यू 1 से नीचे है। महाराष्ट्र और केरल का आर-वैल्यू 1 से नीचे है। इन दो राज्यों में कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही सबसे ज्यादा एक्टिव केस भी इन्हीं दो राज्यों में हैं।

अगस्त के आखिर में देश की आर-वैल्यू 1.17 थी। 4 से 7 सितंबर के बीच आर वैल्यू घटकर 1.11 पर आ गई थी। इसके बाद से आर-वैल्यू लगातार 1 से नीचे है। 11-15 सितंबर के बीच 0.86 रही। महाराष्ट्र और केरल में तेजी से बढ़ रहे मामलों के कारण देश का आर वैल्यू बढ़ गया था। फिलहाल इन दो राज्य़ों में भी पहले के मुकाबले कम मामले सामने आ रहे हैं।

इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमैटिकल साइंसेज, चेन्नई के सीताभरा सिन्हा ने कहा कि अच्छी खबर यह है कि भारत का आर वैल्यू 1 से कम बना हुआ है। जैसा कि केरल और महाराष्ट्र में है दो राज्यों में सबसे ज्यादा सक्रिय मामले हैं। सिन्हा आर-वैल्यू की गणना करने वाले शोधकर्ताओं की एक टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक, मुंबई का आर-वैल्यू 1.09, चेन्नई का 1.11, कोलकाता का 1.04, बेंगलुरु का 1.06 है। यह संख्या या आर यह दर्शाता है कि एक संक्रमित व्यक्ति औसतन कितने लोगों को संक्रमित करता है। दूसरे शब्दों में यह बताता है कि एक वायरस कितनी तेजी से फैल रहा है।

Previous articleपहली ही फ्लाइट पर घिरे चरणजीत सिंह चन्नी, अकाली दल बोला- प्राइवेट जेट से नहीं चलते आम आदमी
Next articleमहंत नरेन्द्र गिरि की संदिग्ध मौत के मामले की जांच करेगी एसआइटी, हिरासत में आधा दर्जन से अधिक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here