Home खास ख़बरें क्वाड बैठक: प्रधानमंत्री मोदी बोले, हमारा एजेंडा है कोरोना वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन...

क्वाड बैठक: प्रधानमंत्री मोदी बोले, हमारा एजेंडा है कोरोना वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन और उभरती टेक्नोलॉजी को कवर करना

11
0

नई दिल्ली। भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख नेताओं के बीच क्वाड की बैठक शुरु हो गई है। क्वाड की बैठक में भारत की ओर से पीएम मोदी हिस्सा ले रहे हैं और यह वर्चुअल तरीके से की जा रही है। वर्चुअल तरीके से हो रही बैठक में सबसे पहले पीएम मोदी ने बोलना शुरु किया। पीएम मोदी ने कहा कि हमारा एजेंडा कोरोना वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन और उभरती टेक्नोलॉजी को कवर करना है।

वहीं, इसके पहले क्वाड की बैठक को लेकर अमेरिकी प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि अमेरिका समान सोच रखने वाले लोकतांत्रिक देशों के साथ मिलकर कोरोना वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाने के लिए ऐतिहासिक समझौता करने जा रहा है, इससे भारत से आ रहे कोरोना वैक्सीन को सप्लाई बढ़ाई जाएगी।
पीएम मोदी ने कहा कि हम अपने साझा मूल्यों को आगे बढ़ाने और एक सुरक्षित, स्थिर और समृद्ध इंडो-पैसिफिक को बढ़ावा देने के लिए पहले से कहीं अधिक और करीब से काम करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज के शिखर सम्मेलन से पता चलता है कि क्वाड अब इन क्षेत्रों के लिए स्थिरता का एक महत्वपूर्ण स्तंभ बना रहेगा।

क्वाड की बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि हम सभी देशों के भविष्य के लिए फ्री हिंद-प्रशांत क्षेत्र महत्वपूर्ण है। क्लाइमेट चेंज की चुनौतियों से निपटने के लिए और अपना सहयोग आगे बढ़ाने के लिए हम एक नया मेकनिज्म लाने जा रहे हैं।

  • ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने नमस्ते के साथ अपने भाषण की शुरुआत की। हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए यह समिट नया उदय है। हिंद प्रशातं का क्षेत्र ही इस सदी में दुनिया का भविष्य तय करेगा।
  • जापानी प्रधानमंत्री सुगा ने कहा कि हमारी प्रतिबद्धता फ्री हिंद-प्रशांत क्षेत्र को लेकर है, हम इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता को लेकर है।
    इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम चारों देश पहले की तरह मिलकर काम करेंगे। मैं इस सकारात्मक दृष्टि को भारत के प्राचीन दर्शन वसुधैव कुटुम्बकम के विस्तार के रूप में देखता हूं जो दुनिया को एक परिवार के रूप में मानता है। साझा मूल्यों को आगे बढ़ाने और धर्मनिरपेक्ष, स्थिर और समृद्ध इंडो-पैसिफिक की तरक्की को देखता हूं।
  • क्वाड की बैठक में सबसे पहले पीएम मोदी ने कहा कि यह इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में स्थिरता का एक महत्वपूर्ण स्तंभ बना रहेगा। हमारा एजेंडा आज कोरोना वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन और उभरती प्रौद्योगिकियों जैसे क्षेत्रों को कवर करना है।
  • एक ठोस खाका तैयार किए जाने पर रहेगा जोर
    गौरतलब है कि क्वाड की बैठक में भारत के रुख का सवाल है तो यह बहुत हद तक पीएम मोदी की तरफ से शांग्रीला डायलॉग (वर्ष 2018) में दिए गए भाषण के मुताबिक ही होगा। मोदी ने तब हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए भारत की नीति बताते हुए सागर (सिक्युरिटी एंड ग्रोथ फार आल इन द रीजन) का नारा दिया था। भारत हर देश के लिए समान अवसर बनाने की नीति के तहत काम करेगा। सूत्रों के मुताबिक अभी तक क्वाड की बैठक बगैर किसी ठोस एजेंडे के हुआ करती थी। लेकिन इस बैठक के बाद एक ठोस खाका तैयार हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here