Home खास ख़बरें प्रधानमंत्री का देश के नाम संबोधन, कहा- राज्य लॉकडाउन को अंतिम विकल्प...

प्रधानमंत्री का देश के नाम संबोधन, कहा- राज्य लॉकडाउन को अंतिम विकल्प रखें, देश को लॉकडाउन से बचाना है

39
0

नई दिल्ली। देश में कोरोना की बेकाबू रफ्तार के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधित करते हुए मंगलवार की रात राज्य सरकारें और मजदूरों से अपील की। प्रधानमंत्री ने मजदूरों से कहा कि जो जहां पर हैं वहीं पर रुके रहें। दूसरी तरफ पीएम मोदी ने राज्य सरकारों से कहा कि वे श्रमिकों में भरोसा बनाए रखें। इस वक्त चुनौतियां काफी बड़ी है लेकिन इसका मिलकर सामना कहना है। देश में ऑक्सीजन की मांग की काफी बढ़ गई है लेकिन उनका मिलकर चुनौतियां करना है। उन्होंने कहा कि निजी कंपनियों ने शानदार काम किया।

प्रधानमंत्री का संबोधन ऐसे वक्त पर हो रहा है कोरोना संक्रमण की तेज रफ्तार के बीच कई राज्य सरकार ने ऑक्सीजन के खत्म होने की बात कहते हुए केन्द्र से तत्काल मदद की मांग की है।

राम नवमी का जिक्र कर दी अनुशासन की सीख

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कल राम नवमी है और हम भगवान राम से सीख लेते हुए मर्यादाओं का सही से पालन करेंगे। हमें दवाई भी और कड़ाई भी की नीति का पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि रमजान के पवित्र महीने का भी 7वां दिन है। रमजान अनुशासन का प्रतीक है और कोरोना में भी इससे सीख मिलती है। उन्होंने कहा कि मेरा सभी से आग्रह है कि आपके साहस, धैर्य और अनुशासन के साथ देश आज की स्थिति को बदलने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा।


ऑक्सीजन की किल्लत दूर करने के प्रयास तेज

देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत को मानते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस संकट से निपटने के लिए तेजी से उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि फैसिलिटी बढ़ाने से लेकर ऑक्सीजन रेल चलाने तक की कोशिशें की जा रही हैं। कोरोना की नई लहर आने के बाद से फार्मा कंपनियों ने दवाइयों के उत्पादन में तेजी लाने का काम किया है। इसे और बढ़ाया जा रहा है। कल भी मेरी फार्मा कंपनियों के लोगों से बात हुई है। उत्पादन में इजाफे के लिए हर तरह से दवा कंपनियों की मदद ली जा रही है। हमारा सौभाग्य है कि देश में इतना मजबूत फार्मा सेक्टर है। इसके अलावा देश के अस्पतालों में बेड्स को बढ़ाने का काम भी तेजी से चल रहा है। कुछ शहरों में बड़े कोविड अस्पताल भी बनाए जा रहे हैं।

कोरोना की दूसरी लहर तूफान बनकर आई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक है। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर तूफान बनकर आई है। इन चुनौतियों का मिलकर सामना करना है।

चुनौती बड़ी, हौसले से निपटना है

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना के चलते जो चुनौतियां आई हैं उन्हें मिलकर सामना करना है। उन्होंने कहा कि चुनौती काफी बड़ी है और उसे हौसले से निपटना है। ऑक्सीजन की काफी मांग बढ़ गई है। ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने पर काम किया जा रहा है। सभी दवा कंपनियों की मदद ली जा रही है।

हमारे पास मजबूत फार्मा सेक्टर

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे पास मजबूत फार्मा सेक्टर है। उन्होंने कहा कि 1 मई से 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार अस्पतालों में मुफ्त वैक्सीन मिलती रहेगी। उन्होंने कहा कि कोशिश है कि हर जरूरतमंद को जल्द वैक्सीन लगे।

राज्य सरकार श्रमिकों का भरोसा जगाएं रखें

प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन के चलते पलायन करने वाले मजदूरों से अपील करते हुए कहा कि जो जहां पर हैं वहीं पर बने रहे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उनमें भरोसा बनाएं रखे। इसके साथ ही, पीएम मोदी ने श्रमिकों से कहा कि उन्हें वहीं पर वैक्सीन लगेगी।

बेवजह घर से ना निकले

प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे बेवजह घर से ना निकले। उन्होंने लोगों से कहा वे ये मानें कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि राज्य लॉकडाउन को अंतिम विकल्प रखें। देश को लॉकडाउन से बचाना है।

दो मेड इन इंडिया वैक्सीन के साथ दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू किया

पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने मेड इन इंडिया वैक्सीन के साथ दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत की। अब तक करीब 12 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोग वैक्सीन लगवा सकेंगे।

Previous articleनई गाइडलाइंस : 10 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खुलेंगे सरकारी कार्यालय
Next articleमुख्यमंत्री ने वरिष्ठ चिकित्सकों व समाजसेवियों से की बात: भोपाल में 500, उज्जैन में 700 बिस्तर के कोविड सेंटर जल्द

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here