Home खास ख़बरें प्रधानमंत्री 24 को जम्मू-कश्मीर की सभी पार्टियों के साथ करेंगे बैठक

प्रधानमंत्री 24 को जम्मू-कश्मीर की सभी पार्टियों के साथ करेंगे बैठक

19
0
  • चार पूर्व मुख्यमंत्री समेत 14 नेताओं को बुलावा

नई दिल्ली/श्रीनगर।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के करीब 3 साल बाद सियासत में एकबार हलचल देखने को मिल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 जून को अपने आवास पर सर्वदलीय बैठक करने वाले हैं। इस बैठक के लिए जम्मू-कश्मीर से नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबुबा मुफ्ती समेत 14 दलों के नेताओं को न्योता भेजा गया है। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, सभी नेताओं को फोन पर बैठक में शामिल होने के लिए सूचित कर दिया गया है। बैठक से पहले इन्हें कोरोना निगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा।

इन नेताओं को बुलाया

जिन नेताओं को बुलाया गया है उनमें चार पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती शामिल हैं। जम्मू-कश्मीर से पूर्व उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता तारा चंद, पीपील्स कॉन्फ्रेंस नेता मुजफ्फर हुसैन बेग और भाजपा नेता निर्मल सिंह और कवींद्र गुप्ता को भी बुलाया गया है। इनके अलावा सीबीआई (एम) नेता मोहम्मद युसूफ तारागामी, जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी, पीपल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन, पैंथर्स पार्टी के नेता भीम सिंह को भी आमंत्रित किया गया है।

कल पार्टी नेताओं से मिलेंगी महबूबा

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हां, हमें सूचना दी गई है, लेकिन यह कोई न्योता नहीं था। हमने रविवार को पीडीपी नेताओं की एक बैठक बुलाई है, जिसमें प्रधानमंत्री के साथ होने वाली बैठक पर शामिल होने को लेकर चर्चा होगी। इसी बैठक में तय होगा कि बैठक में पीडीपी शामिल होगी या नहीं। जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने कहा कि हम केंद्र की ओर से बातचीत के तरीके की सराहना करते हैं।

पूर्ण राज्य व चुनाव पर बातचीत संभव

बैठक में जम्मू-कश्मीर में चल रहे राजनीतिक गतिरोध के अलावा केंद्र शासित प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा देने संबंधी विषयों पर चर्चा हो सकती है। बैठक में जम्मू-कश्मीर में होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी चर्चा की उम्मीद है। राज्य में चुनाव 2018 से लंबित हैं। तब महबूबा मुफ्ती की पार्टी और भाजपा का गठबंधन टूट गया था। इस बीच, गुपकार समूह ने भी केंद्र सरकार से बातचीत को लेकर नरम रुख के संकेत दिए थे।

इससे पहले अमित शाह ने शुक्रवार को गृह मंत्रालय में एक बैठक की थी, इसमें एनएसए अजित डोभाल, गृह सचिव अजय भल्ला, आईबी के निदेशक अरविंद कुमार, रॉ के प्रमुख सामंत कुमार गोयल, सीआरपीएफ के निदेशक जनरल कुलदीप सिंह और जम्मू और कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह शामिल हुए। इससे पहले शाह ने उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा से भी मुलाकात की थी।

Previous articleअतंर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 15 आध्यात्मिक व योग गुरु देंगे संदेश
Next articleआइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप : खराब रोशनी के कारण फिर रुका खेल, भारत का स्कोर 146/3

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here