Home खास ख़बरें राष्ट्रीय स्तर पर नहीं लगेगा कोई लॉकडाउन : पीयूष गोयल

राष्ट्रीय स्तर पर नहीं लगेगा कोई लॉकडाउन : पीयूष गोयल

13
0

राज्य सरकारें अपने क्षेत्र के मुताबिक लॉकडाउन पर ले सकती फैसला

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की दूसरी लहर से राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन को लेकर मंडराए संशय के बादल से पर्दा उठ गया है। केंद्र सरकार राष्ट्रीय स्तर पर कोई लॉकडाउन लगाने नहीं जा रही है। राज्य सरकारें अपने जरूरत के मुताबिक क्षेत्र अनुसार लॉकडाउन लगा सकती है। इस क्षेत्रीय स्तर के लॉकडाउन में भी उत्पादन करने वाली औद्योगिक इकाइयों को बंद नहीं किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कोई लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। केंद्रीय मंत्री के इस बयान से यह साफ हो गया कि केंद्र सरकार की लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं हैं। इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि क्षेत्रीय स्तर पर लगने वाले लॉकडाउन में उत्पादन करने वाले औद्योगिक इकाईयां को लॉकडाउन में छूट दिया जाएगा। ऐसी इकाईयां पूर्ववत काम करती रहेगी। देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए औद्योगिक इकाईयों को लॉकडाउन के दौरान छूट देने का फैसला पूर्ववत जारी रहेगा। दरअसल अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने के लिए सरकार आत्मनिर्भर योजना पर तेजी से काम कर रही है।

इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए सरकार ने उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन पीएलआई को बढ़ावा देने के लिए 13 क्षेत्रों को चुन रखा है। इसमें से 7 क्षेत्रों के लिए मोदी मंत्रिमंडल ने प्रोत्साहन राशि की अनुमति भी प्रदान कर दी है। इसी बाबत आज मोदी मंत्रिमंडल ने दो और क्षेत्रों को अनुमति प्रदान की। इसमें पहला है सौर उर्जा से जुड़े क्षेत्र है तो दूसरा एयरकंडीशनर और एलईडी से जुड़े क्षेत्र हैं। पीयूष गोयल ने बताया कि सौर उर्जा क्षेत्र में इस योजना के तहत 10 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन के लिए पीएलआई योजना की मंजूरी दी गई है। इससे 30 हजार लोगों को सीधे रोजगार मिलेगा और 1,20,000 लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। वहीं एयर कंडीशनर और एलईडी क्षेत्र में पीएलआई योजना लागू होने से आयात पर निर्भरता खत्म होगी। इससे देश में इसके सामानों का उत्पादन होने लगेगा।

महाराष्ट्र में वैक्सीन की नहीं है कमी : जावड़ेकर

NEW DELHI, APR 7 (UNI):- Union Minister for Environment, Forest and Climate Change, Information and Broadcasting and Heavy Industries and Public Enterprise, Prakash Javadekar holding a press conference on Cabinet Decisions, in New Delhi on Wednesday. UNI PHOTO-41U

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर सियासत पर केंद्र सरकार ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि महाराष्ट्र को 1,06,00,000 वैक्सीन दिए जा चुके हैं। इसमें से महाराष्ट्र सरकार 90 लाख टीके का इस्तेमाल कर चुकी है। महाराष्ट्र के पास पहले भेजे गए टीके में से 16 लाख टीके अभी बचे हुए हैं। इसके अलावा केंद्र सरकार प्रत्येक दिन 7 लाख टीका महाराष्ट्र को भेज रही है। इस तरह महाराष्ट्र के पास 23 लाख टीके अभी मौजूद है। इसलिए अपनी कमी को छिपाने के लिए महाराष्ट्र सरकार टीके की कमी का रोना न रोए।

देश में 24 घंटे में अब तक के सर्वाधिक 1,15,239 मरीज मिले

देश कोरोना की दूसरी बड़ी लहर की चपेट में है। कोरोना के कहर को देखते हुए दिल्ली समेत कई राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन, रात्रि कफ्र्यू, वीकेंड लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। देश में कोरोना की दूसरी लहर ने अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। ताजा आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में कोरोना के 1,15,239 नए मामले दर्ज किए गए हैं। नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 1,28,01,785 हो गई है। इसमें से सर्वाधिक 55 हजार केस अकेले महाराष्ट्र में आए, जबकि राज्य में 24 घंटे के भीतर 297 लोगों की मौत हो गई। अभी तक लगभग 8.50 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वास्थ्य दिवस के मौके पर देशवासियों से कोरोना का टीका लगवाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से लडऩे पर सभी लोग ध्यान केंद्रित करें, जिसमें मास्क पहनना, नियमित रूप से हाथ धोना और अन्य प्रोटोकॉल का पालन करना शामिल है। साथ ही इम्युनिटी को बूस्ट करने और फिट रहने के लिए सभी संभव कदम उठाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here