Home खास ख़बरें लोकप्रियता के मामले में दुनिया में पीएम मोदी का बज रहा डंका,...

लोकप्रियता के मामले में दुनिया में पीएम मोदी का बज रहा डंका, कोरोना काल में गिरी विश्‍व के कई नेताओं की साख

31
0

नई दिल्‍ली । कोविड महामारी में जहां वैश्विक स्‍तर के अधिकतर नेताओं की लोकप्रियता हिचकोले खाती दिखाई दी है वहीं भारत क प्रधानमंत्री की स्थिति जस की तस बनी हुई है। वो आज भी दुनिया में सबसे अधिक लोकप्रिय और स्‍वीकार्य नेता हैं। इस बात की पुष्टि अमेरिकी डाटा इंटेलिजेंस फर्म के आंकड़े कह रहे हैं। फर्म के मॉर्निंग कंसल्‍ट सर्वे में ये बात साफतौर पर दिखाई दे रही है। इस सर्वे के मुताबिक स्‍वीकार्यता के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरी दुनिया में अन्‍य नेताओं पर भारी पड़े हैं। सर्वे के मुताबिक पीएम मोदी की ग्‍लोबल एप्रूवल रेटिंग 66 फीसद है। आंकड़े बता दें कि रहे हैं कि पीएम मोदी, अमेरिका रूस, ब्रिटेन, आस्‍ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, ब्राजील और जर्मनी समेत विश्‍व के अन्‍य 13 नेताओं की तुलना में कहीं आगे हैं। आंकड़े बता रहे हैं कि इस लिस्‍ट में पीएम मोदी के बाद इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी का नंबर आता है। उनकी रेटिंग 65 फीसद है। इसके बाद तीसरे नंबर पर मैक्सिको के राष्‍ट्रपति लोपेज ओब्रेडोर का आता है। उनकी वैश्विक रेटिंग 63 फीसद है। इसके बाद आस्‍ट्रेलिया के पीएम स्‍कॉट मॉरिसन की रेटिंग 54 फीसद, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल की रेटिंग 53 फीसद, अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन की रेटिंग 53 फीसद, कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो 48 फीसद, ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन की रेटिंग 44 फीसद, दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जे की रेटिाग 37 फीसद, स्‍पेनिश के राष्‍ट्रपति पेड्रो सांचेज की रेटिंग 36 फीसद, ब्राजील के राष्‍ट्रपति जायर बोल्‍सोनारो की रेटिंग 35 फीसद, फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन की रेटिंग 35 फीसद और जापान के पीएम के पीएम योशिहिदे सुगा की रेटिंग 29 फीसद है। इस सर्वे में भारत में 2126 व्‍यस्‍कों के सैंपल साइज लिया गया था। 17 जून को इस ट्रेकर को अपडेट किया गया था। गौरतलब है कि यूए डाटा फर्म मॉर्निंग कंसल्‍ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस आस्‍ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, ब्राजील, जर्मनी, भारत, जापान, इटली, मैक्सिको, साउथ कोरिया, ब्रिटेन, स्‍पेन, और अमेरिका के नेताओं की एप्रूवल रेटिंग को ट्रैक करती है। इस अपडेशन सप्‍ताह में एक बार किया जाता है। इसका सैंपल साइज हर देश में अलग होता है।

Previous articleकलकत्ता हाईकोर्ट में सुनवाई टली; नंदीग्राम में BJP के शुभेंदु अधिकारी से मिली हार को ममता बनर्जी ने दी है चुनौती
Next articleभारत में चोकसी के वकील ने कहा- मेहुल को डोमिनिका में जेल भेजने का आदेश, लेकिन अभी अस्पताल में रहेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here