Home खास ख़बरें परंपरा और तकनीक भारत की सबसे बड़ी ताकत

परंपरा और तकनीक भारत की सबसे बड़ी ताकत

13
0

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टॉयकैथॅन-2021 के प्रतिभागियों से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बातचीत की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि परंपरा और तकनीक भारत की बड़ी ताकत हैं. पीएम मोदी ने यह भी कहा कि बीते 5-6 वर्षों में हैकाथॉन को देश की समस्याओं के समाधान का एक बड़ा प्लेटफॉर्म बनाया गया है. इसके पीछे की सोच है- देश के सामर्थ्य को संगठित करना, उसे एक माध्यम देना. कोशिश ये है कि देश की चुनौतियों और समाधान से हमारे नौजवान का सीधा संपर्क हो. प्रधानमंत्री ने टॉयकैथन 2021 में कहा, ‘मैंने खिलौनों और डिजिटल गेमिंग की दुनिया में आत्मनिर्भरता और लोकल सोल्यूशंस के लिए अपील की थी. उसकी प्रतिक्रिया सकारात्‍मक दिख रही है. ये खिलौने, गेम्स हमारी मानसिक शक्ति, हमारी क्रिएटिविटी और हमारी अर्थव्यवस्था जैसे अनेक पहलुओं को प्रभावित करते है. पीएम मोदी ने कहा कि वैश्विक खिलौना बाजार करीब 100 अरब डॉलर का है. इसमें भारत की हिस्सेदारी सिर्फ डेढ़ बिलियन डॉलर के आसपास ही है. आज हम अपनी आवश्यकता के भी लगभग 80 फीसदी खिलौने आयात करते हैं. यानि इन पर देश के करोड़ों रुपये बाहर जा रहे हैं. इस स्थिति को बदलना ज़रूरी है. उन्‍होंने कहा कि भारत के वर्तमान सामर्थ्य को, भारत की कला-संस्कृति को, भारत के समाज को आज दुनिया ज्यादा बेहतर तरीके से समझना चाहती है. इसमें हमारी खिलौना और गेमिंग इंडस्‍ट्री बहुत बड़ी भूमिका निभा सकती है. पीएम मोदी ने कहा कि हमारा फोकस ऐसे खिलौना और गेम का निर्माण करने पर भी हो, जो हमारी युवा पीढ़ी को भारतीयता के हर पहलू को रोचक तरीके से बताए. हमारे खिलौने और गेम, मनोरंजन भी करें इंगेज भी करें और शिक्षित भी करें, ये हमें सुनिश्चित करना है. शिक्षा मंत्रालय, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय, उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग , कपड़ा मंत्रालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने पांच जनवरी, 2010 को टॉयकैथॅन-2021 की संयुक्त रूप से शुरुआत की थी.

Previous articleकोरोना पर डबल अटैक: एक्टिव केसों की संख्या और घटी, वैक्सीनेशन 30 करोड़ के पार
Next articleभोपाल में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here