Home खास ख़बरें गतिरोध बरकरार : जूडा ने खून के छींटे लगे एप्रिन बिल्डिंग में...

गतिरोध बरकरार : जूडा ने खून के छींटे लगे एप्रिन बिल्डिंग में लटकाकर किया प्रदर्शन

18
0

हड़ताल कर रहे जूडा से बांड राशि वसूलने की तैयारी में सरकार
भोपाल।
प्रदेश के जूनियर डॉक्टरों और राज्य सरकार के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है। राज्य सरकार ने अभी तक जूडा को समझाने की पूरी कोशिश की, लेकिन अब सरकार भी उच्च न्यायालय के फैसले के आधार पर सख्त रुख अख्तियार कर लिया है। शुक्रवार शाम को चिकित्सा शिक्षा विभाग ने जहां इस्तीफा देने वाले जूडा को बांड राशि वापस करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

राजधानी की गांधी मेडिकल कॉलेज के जिन जूनियर डॉक्टरों ने इस्तीफा दिया है, उन्हें छात्रावास भी खाली करने का नोटिस थमाया गया है। इसी बीच शनिवार सुबह जूडा ने भी नई रणनीति के तहत प्रदर्शन किया। आज सुबह जूडा ने भोपाल की गांधी मेडिकल कॉलेज के मुख्य भवन में खून के छींटे लगे एप्रिन लटकाकर प्रदर्शन किया है। जूडा का कहना है कि जिस तरह से परेशान हैं, सरकार उनका खून चूस रही है। ऐसे में उनके कपड़ों पर अब खून के छींटे हैं। जीएमसी के बाहर हमारी मांगे पूरी करो के नारे के साथ आज सुबह भी जूडा ने प्रदर्शन किया और सरकार द्वारा बांड राशि जमा करने और छात्रावास खाली करने के नोटिस के विरोध में कोरोना सोद्धा सर्टिफिकेट लौटाने की धमकी भी दी है। सीट छोडऩे वालों से बांड राशि जमा करने को जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन ने दमनकारी कार्रवाई बताया है।

बढ़ सकती हैं मुश्किलें
जबलपुर उच्च न्यायालय ने जूडा की हड़ताल को अवैध करार देते हुए 24 घंटे में काम पर लौटने के आदेश गुरुवार को दिए थे। इसके बाद 24 घंटे में हड़ताल से वापस लौटने की बजाय जूडा ने सामूहिक इस्तीफा दे दिया है। सामूहिक इस्तीफा देने वालों को चिकित्सा शिक्षा विभाग नोटिस देकर बांड की राशि भरने और छात्रावास खाली करने को कहा है। अभी कोरोना का संकट पूरी तरह से प्रदेश से टला नहीं है। अगर जूडा के समर्थन में और चिकित्सक संघ हड़ताल पर चले जाते हैं तो सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here