Home खास ख़बरें भगोड़े मेहुल चोकसी को अगवा कर ले जाया गया था डोमिनिका? वकीलों...

भगोड़े मेहुल चोकसी को अगवा कर ले जाया गया था डोमिनिका? वकीलों ने दिए अपहरण करने वालों के नाम, अब एंटीगुआ पुलिस ने शुरू की जांच

11
0

नई दिल्ली, पीएनबी घोटाले का आरोपी और भगोड़े मेहुल चोकसी के कथित अपहरण लेकर अब एंटीगुआ की रॉयल पुलिस फोर्स ने भी जांच शुरू कर दी है। डोमिनिका के पीएम गैस्टन ब्राउन ने बताया है कि चोकसी के वकीलों की शिकायत पर एंटीगुआ और बारबूडा की रॉयल पुलिस फोर्स ने अपहरण मामले में जांच शुरू कर दी है। पीएम ब्राउन ने यह भी बताया कि चोकसी के वकीलों ने अपहरण में शामिल लोगों के नाम भी दिए हैं। एंटीगुआ न्यूजरूम की रिपोर्ट के मुताबिक, गैस्टन ब्राउन ने बताया कि मेहुल चोकसी के वकीलों ने पुलिस कमिश्नर को अपनी शिकायत में उन लोगों के नाम भी दिए हैं जिन्होंने चोकसी का अपहरण किया। ब्राउन ने यह भी कहा कि अगर इन दावों में सच्चाई है तो यह गंभीर मामला है। उन्होंने कहा कि पुलिस इस शिकायत को गंभीरता से ले रही है। पीएम ब्राउन ने कहा, ‘चोकसी ने एंटीगुआ और बारबूडा की रॉयल पुलिस फोर्स में अपने अपहरण को लेकर शिकायत दर्ज की है। उसने अपने वकीलों के जरिए औपचारिक तौर पर शिकायत कर यह बताया है कि उसे एंटीगुआ से अगवा कर के डोमिनिका ले जाया गया। पुलिस इस रिपोर्ट को गंभीरता से ले रही है और उन्होंने अपहरण को लेकर जांच शुरू कर दी है।’ डोमिनिका में विपक्षी नेता लेनक्स लिंटन ने दावा किया है कि चोकसी को जहाज से 23 मई की रात 10 बजे डोमिनिका लाया गया। चोकसी के परिवार ने दावा किया है कि वह 23 मई की शाम 5 बजे तक एंटीगुआ में ही था। ऐसे में 120 मील का सफर सिर्फ 4 से 5 घंटे में तय करना नामुमकिन है। वहीं कस्टम डॉक्यूमेंट के मुताबिक, 23 मई को सुबह 10 बजे एक नाव एंटीगुआ से निकली थी। वहीं, चोकसी के घर में काम करने वालों का कहना है कि वह शाम 5 बजे तक घर पर ही था। इससे यह संकेत मिलता है कि चोकसी को उस नाव से नहीं ले जाया गया, जिसका दावा लिंटन कर रहे हैं। चोकसी 23 मई को रहस्यमय तरीके से एंटीगुआ से लापता हो गया था, जहां वह 2018 से नागरिक के तौर पर रह रहा था। उसे पड़ोस के ही देश डोमिनिका में अवैध प्रवेश के मामले में पकड़ा गया था। चोकसी के वकील का दावा है कि उसके मुवक्किल को जॉली हार्बर से एंटीगुआ और भारत के सुरक्षाकर्मी नाव पर डोमिनिका ले गए थे। इस बीच चोकसी की डोमिनिका के मैजिस्ट्रेट कोर्ट में पेशी हुई, जहां उसकी बेल याचिका को खारिज कर दिया गया। डोमिनिका की कोर्ट ने चोकसी के वकीलों की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई भी टाल दी है। चोकसी और उसका भांजा नीरव मोदी दोनों ही भारत में साढ़े 13 हजार करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले के आरोपी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here