प्रदेश में 7.7 प्रतिशत पहुंची संक्रमण दर, इंदौर-भोपाल व उज्जैन में संक्रमण गंभीर

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

प्रदेश में 30000 से पार पहुंची एक्टिव मरीजों की संख्या


भोपाल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर धीरे-धीरे भयावह होती जा रही है। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार पांच प्रतिशत से अधिक संक्रमण दर पहुंचने पर महामारी खतरनाक मानी जाती है। प्रदेश में रविवार को आए आंकड़ों के अनुसार संक्रमण दर करीब आठ प्रतिशत पहुंच गई है। इंदौर में एक क्षेत्र में 100 लोगों की कोरोना जांच में 40 लोगों के पॉजिटिव आने पर संक्रमण दर 40 प्रतिशत हो गई। यहां कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा है। शनिवार को प्रदेश में जितने मरीज मिले थे, उससे एक हजार से अधिक मरीज रविवार को मिले हैं। जांचे गए सैंपलों में 7.7 प्रतिशत संक्रमण दर पहुंच गई है।

ये भी पढ़ें:  आरोग्‍य मंथन के कार्यक्रम में बोले राष्‍ट्रपति, पूरे देश की एक स्वास्थ्य सेवा के लिए वर्तमान सेवाओं को समझना होगा

प्रदेश में 28 दिसंबर को 30 मरीज मिले थे। इसके बाद से मरीजों की संख्या और संक्रमण दर लगातार बढ़ते हुए इस स्तर पर पहुंची है। हालांकि, राहत की बात यह है कि प्रदेश में 30,109 सक्रिय मरीजों में से 588 यानी दो फीसद से कम ही अस्पतालों मेंं भर्ती हैं। हफ्ते भर पहले यह आंकड़ा चार फीसद तक था।

47 प्रतिशत मरीज इंदौर व भोपाल में


अभी तक आए आंकड़ों के अनुसार इंदौर में 1852 और भोपाल के 1175 हैं। यानी कुल मरीजों में 47 फीसद इन्हीं दोनों शहरों में हैं। ग्वालियर में 756 और जबलपुर में 442 मरीज मिले हैं। सबसे ज्यादा 8940 सक्रिय मरीज भी इंदौर में हैं। इसके बाद 5623 मरीज भोपाल, 3553 ग्वालियर और 2137 सक्रय मरीज जबलपुर में हैं। कुल मरीजों में 98 फीसद होम आइसोलेशन में हैं। निजी एवं सरकारी अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 166 भोपल में और 177 इंदौर में हैं।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News