Home खास ख़बरें उद्योगपति के ​हेलीकॉप्टर को करनी पड़ी ​आपातकालीन लैंडिंग

उद्योगपति के ​हेलीकॉप्टर को करनी पड़ी ​आपातकालीन लैंडिंग

22
0

कोच्चि। बहुराष्ट्रीय कंपनी लुलु ग्रुप के चेयरमैन एमए यूसुफ अली के​हेलीकॉप्टर को रविवार सुबह केरल यूनिवर्सिटी ऑफ फिशरीज एंड ओशन स्टडीज के पास एर्नाकुलम के पनगढ़ में​आपातकालीन लैंडिंग करनी पड़ी। इस कंपनी का मुख्यालय संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में है। हेलीकॉप्टर में सवार छह लोग सुरक्षित हैं लेकिन ​मामूली रूप से घायल होने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।

लुलु समूह के मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशंस के निदेशक वी नंदकुमार ने एक बयान में कहा कि निजी हेलीकॉप्टर में पायलट और सह पायलट के अलावा कंपनी के चेयरमैन यूसुफ अली, उनकी पत्नी शबीरा और निजी सचिव शाहिद पीके सवार थे। यह लोग रमजान से पहले दक्षिण भारत की निजी यात्रा पर थे। एर्नाकुलम के पास आज सुबह अचानक बारिश के कारण मौसम ख़राब हो गया। पायलट ने अनुमान लगाया कि हेलीकॉप्टर आगे नहीं उड़ सकता है, इसलिए उसने हेलीकॉप्टर में सवार सभी यात्रियों और क्षेत्र के निवासियों की सुरक्षा को देखते हुए दलदली भूमि में आपातकालीन लैंडिंग करने का फैसला लिया।

इस पर पायलट को सुबह केरल यूनिवर्सिटी ऑफ फिशरीज एंड ओशन स्टडीज के पास एर्नाकुलम के पनगढ़ में हेलीकॉप्टर की आपातकालीन दुर्घटना लैंडिंग करनी पड़ी। सभी यात्री सुरक्षित हैं, लेकिन मामूली रूप से घायल ​होने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया।​ ​यूसुफ अली ने हेलीकॉप्टर से बाहर निकलते समय पीठ में दर्द की शिकायत की। पुलिस और दमकलकर्मियों ​ने लैंडिंग स्थल का निरीक्षण ​किया।

उल्लेखनीय है कि अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और संयुक्त अरब अमीरात सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने शुक्रवार को यूसुफ अली और 11 अन्य लोगों को अबू धाबी पुरस्कार से सम्मानित किया था। यूएई में खेल, संस्कृति, धर्मार्थ और समुदाय आधारित परियोजनाओं में सहयोग के लिए लुलु समूह के चेयरमैन एमए यूसुफ अली को यह सम्मान दिया गया है। डब्ल्यूएएम की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई अभियानों के उनके समर्थन ने कई स्थानीय समुदायों को सकारात्मक रूप से प्रभावित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here