Home खास ख़बरें टीम इंडिया 145 रन पर ऑलआउट, इंग्लैंड पर 33 रन की बढ़त

टीम इंडिया 145 रन पर ऑलआउट, इंग्लैंड पर 33 रन की बढ़त

30
0

अहमदाबाद। इंग्लैंड के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट में टीम इंडिया पहली पारी में 145 रन ही बना सकी। दुनिया के सबसे बड़े नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 112 रन बनाए थे। इस लिहाज से भारत ने उस पर 33 रन की बढ़त बना ली है।
टीम इंडिया ने दूसरे दिन 3 विकेट पर 99 रन से आगे खेलना शुरू किया। टीम ने 46 रन बनाने में 7 विकेट गंवाए। अजिंक्य रहाणे (7 रन), रोहित शर्मा (66 रन), ऋषभ पंत (1), वॉशिंगटन सुंदर (0) और अक्षर पटेल (0) पवेलियन लौट गए। जैक लीच ने रहाणे और रोहित को LBW किया।
कप्तान जो रूट ने ऋषभ पंत को कैच आउट कराया। इसके बाद रूट ने एक ही ओवर में सुंदर को क्लीन बोल्ड और अक्षर को कैच आउट कराया। इसके बाद रविचंद्रन अश्विन ने बड़े शॉट खेलकर स्कोर आगे बढ़ाया, लेकिन वे भी 17 रन बनाकर रूट के शिकार हुए।
टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा ने 96 बॉल पर 66 रन की पारी खेली। उनके अलावा विराट कोहली ने 27 रन बनाए। इंग्लैंड के लिए स्पिनर जैक लीच ने 4 और जो रूट ने 5 विकेट लिए। कप्तान रूट पार्ट टाइम स्पिनर हैं। रूट ने टेस्ट करियर में पहली बार पारी में 5 विकेट हासिल किए। वे डे-नाइट टेस्ट में सबसे कम 8 रन देकर 5 विकेट लेने वाले पहले इंग्लिश बॉलर बन गए हैं।
भारतीय पिचों पर विदेशी टीम के पार्ट टाइम स्पिनर ने पहले भी कमाल दिखाया है। 2004 में मुंबई टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के लिए माइकल क्लार्क ने 9 रन देकर 6 विकेट लिए थे। हालांकि, उस मैच में भारतीय टीम ने जीत हासिल की थी।
37 साल बाद किसी इंग्लिश कप्तान ने 5 विकेट झटके
रूट 37 साल बाद एक पारी में 5 विकेट लेने वाले पहले इंग्लिश कप्तान बन गए हैं। इससे पहले जुलाई 1983 में बॉब विलिज ने यह कारनामा किया था। विलिज ने लीड्स टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक पारी में 35 रन देकर 5 विकेट झटके थे।
रोहित-कोहली ने टीम को संभाला
पहले दिन सधी शुरुआत के बाद टीम इंडिया ने लगातार 2 ओवर (15वें और 16वें) में 2 विकेट गंवा दिए थे। ओपनर शुभमन गिल 11 रन बनाकर आउट हुए। जोफ्रा आर्चर की बॉल पर जैक क्राउली ने उनका विकेट लिया। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा खाता भी नहीं खोल सके और स्पिनर जैक लीच ने उन्हें LBW किया।
ओपनर रोहित शर्मा ने एक छोर संभाले रखा। उन्होंने विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 बॉल पर 64 रन की पार्टनरशिप कर टीम को संभाला। पहला दिन खत्म होने से ठीक पहले कोहली 27 रन बनाकर जैक लीच की बॉल पर क्लीन बोल्ड हुए।
अक्षर-अश्विन ने 9 विकेट लेकर इंग्लैंड को समेटा
मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड को अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन ने 9 विकेट लेकर 112 रन पर ऑलआउट किया था। अक्षर को 6 और अश्विन को 3 विकेट मिले। अक्षर ने लगातार दूसरी पारी में 5 या उससे ज्यादा विकेट झटके। पिछले टेस्ट की दूसरी पारी में उन्होंने 5 विकेट लिए थे।
इंग्लैंड की खराब शुरुआत रही
इंग्लैंड की शुरूआत बेहद खराब रही थी। टीम ने 27 रन पर ही 2 विकेट गंवा दिए थे। 100वां टेस्ट खेल रहे तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने इंग्लैंड को पहला झटका दिया था। ओपनर डॉम सिबली 1 रन बनाकर आउट हुए। इशांत की बॉल पर स्लिप में रोहित शर्मा ने उनका कैच लिया।
7 इंग्लिश बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके
1.32 लाख दर्शकों की क्षमता वाले नए बने इस स्टेडियम में पहली बार इंटरनेशनल मैच खेला जा रहा है। पहली पारी में इंग्लैंड के लिए 7 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके। इनमें जॉनी बेयरस्टो और ओपनर डॉम सिबली शून्य पर आउट हुए। भारत में पहली बार टेस्ट खेल रहे जैक क्राउली ने सबसे ज्यादा 53 रन की पारी खेली।
कोहली के पास सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने का मौका
विराट कोहली के पास यह मैच जीतने के साथ ही घर में सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने का मौका है। वे और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दोनों ने भारत में 21-21 टेस्ट जीते हैं। धोनी ने भारतीय जमीन पर कुल 30 टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी की है। इसमें से 3 में हार मिली और 6 टेस्ट ड्रॉ रहे। वहीं, विराट की कप्तानी में भारत ने घरेलू मैदानों पर 28 टेस्ट खेले। इनमें से दो में हार का सामना करना पड़ा और 5 टेस्ट ड्रॉ रहे।
तीसरा टेस्ट जीते तो कर लेंगे स्टीव वॉ की बराबरी
अगर भारतीय टीम यह टेस्ट मैच भी जीत लेती है तो विराट का घरेलू मैदानों पर रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्टीव वॉ की बराबरी पर आ जाएगा। तब भारतीय मैदानों पर विराट के नाम 29 टेस्ट में 22 जीत हो जाएगी। दूसरी ओर स्टीव वॉ ने भी अपने घरेलू मैदानों (ऑस्ट्रेलिया में) में 29 में से 22 मैचों में जीत हासिल की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here