Home खास ख़बरें इंग्लैंड टीम पहली पारी में 112 रन पर सिमटी, अक्षर पटेल ने...

इंग्लैंड टीम पहली पारी में 112 रन पर सिमटी, अक्षर पटेल ने 6 विकेट झटके

92
0

अहमदाबाद। दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम बन चुके मोटेरा में भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट खेला जा रहा है। इस डे-नाइट टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड पहली पारी में 112 रन पर सिमट गई। करियर का दूसरा टेस्ट खेल रहे स्पिनर अक्षर पटेल ने 6 विकेट लिए। इनके अलावा रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट लिए।
इंग्लैंड की खराब शुरुआत रही
इंग्लैंड की शुरूआत बेहद खराब रही। टीम ने 27 रन पर ही 2 विकेट गंवा दिए थे। 100वां टेस्ट खेल रहे तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने इंग्लैंड को पहला झटका दिया था। ओपनर डॉम सिबली 1 रन बनाकर आउट हुए। इशांत की बॉल पर स्लिप में रोहित शर्मा ने उनका कैच लिया।
1.32 लाख दर्शकों की क्षमता वाले नए बने इस स्टेडियम में पहली बार इंटरनेशनल मैच खेला जा रहा है। पहली पारी में इंग्लैंड के लिए 7 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके। इनमें जॉनी बेयरस्टो और ओपनर डॉम सिबली शून्य पर आउट हुए। भारत में पहली बार टेस्ट खेल रहे जैक क्राउली ने सबसे ज्यादा 53 रन बनाए।
अक्षर ने 6 विकेट लेकर मिडिल ऑर्डर ढहाया
स्पिनर अक्षर पटेल ने 6 विकेट लेकर इंग्लैंड के मिडिल ऑर्डर को ढहाया। उन्होंने मैच के 7वें ओवर में इंग्लिश टीम को दूसरा झटका दिया। उन्होंने जॉनी बेयरस्टो को LBW किया। अक्षर ने जैक क्राउली को 53 रन पर LBW किया। क्राउली के करियर की यह चौथी टेस्ट फिफ्टी रही। भारतीय स्पिनर ने बेन स्टोक्स (6) को भी LBW किया। उन्होंने जोफ्रा आर्चर और स्टुअर्ट ब्रॉड को आउट किया। आखिर में बेन फोक्स को क्लीन बोल्ड किया।
अश्विन ने 3 विकेट लिए
स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट लिए। उन्होंने इंग्लिश टीम को तीसरा झटका देते हुए कप्तान जो रूट को 17 रन पर LBW किया। अश्विन ने ओली पोप (1 रन) को क्लीन बोल्ड किया। इसके बाद इंग्लैंड को 8वां झटका देते हुए जैक लीच को कैच आउट कराया।
इंडिया टीम में 2 और इंग्लैंड टीम में 4 बदलाव
इंग्लैंड टीम में 4 बदलाव किए गए। रोरी बर्न्स, डेन लॉरेंस, ओली स्टोन और मोइन अली को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया गया। उनकी जगह जेम्स एंडरसन, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो और जैक क्राउली की वापसी हुई।
टीम इंडिया में कप्तान विराट कोहली ने प्लेइंग इलेवन में 2 बदलाव किए हैं। तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज की जगह जसप्रीत बुमराह की वापसी हुई। साथ ही स्पिनर कुलदीप यादव की जगह वॉशिंगटन सुंदर को मौका मिला।
दोनों टीमें अलग तरह से पिच को पढ़ रहीं
मैच में दोनों टीम पिच को अलग-अलग तरीके से पढ़ रही हैं। इंग्लिश टीम ने तेज गेंदबाजी पर जोर दिया है, जबकि भारतीय टीम का प्लेइंग इलेवन सिलेक्शन कहता है कि उन्हें विश्वास है कि पिच जल्द ही टूटने लगेगी और स्पिनर्स को मदद मिलेगी। टीम इंडिया मैच में 3 स्पेशलिस्ट स्पिनर अश्विन, अक्षर और सुंदर के साथ उतरी है। जबकि इंग्लिश टीम ने प्लेइंग इलेवन में एकमात्र स्पिनर जैक लीच को शामिल किया है।
दोनों टीम:
इंडिया: रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), वॉशिंगटन सुंदर, अक्षर पटेल, रविचंद्रन अश्विन, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह।
इंग्लैंड: डॉम सिबली, जैक क्राउली, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट (कप्तान), बेन स्टोक्स, ओली पोप, बेन फोक्स (विकेटकीपर), जोफ्रा आर्चर, जैक लीच, स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन।
3 तरह की बॉल से डे-नाइट टेस्ट खेलने वाली इंग्लैंड अकेली टीम
इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट में इस्तेमाल होने वाली 3 तरह की गेंदों SG, कूकाबुरा और ड्यूक से डे-नाइट टेस्ट खेलने वाली दुनिया की पहली टीम है। भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और वेस्टइंडीज ने 2, जबकि ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे और साउथ अफ्रीका ने सिर्फ 1 ही तरह की गेंद से टेस्ट खेला है।
भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा का यह करियर का 100वां टेस्ट है। ये उपलब्धि हासिल करने वाले इशांत दूसरे भारतीय पेसर बन गए। उनसे पहले पूर्व तेज गेंदबाज कपिल देव 131 टेस्ट खेले थे। 18 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले इशांत 4 प्लेयर्स राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी में खेल चुके। इशांत ने अपना टेस्ट डेब्यू द्रविड़ की कप्तानी में 25 मई 2007 को बांग्लादेश के खिलाफ किया था। मैच से ठीक पहले 100वां टेस्ट खेल रहे इशांत को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सम्मानित किया।
कोहली के पास सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने का मौका
विराट कोहली के पास यह मैच जीतने के साथ ही घर में सबसे सफल भारतीय कप्तान बनने का मौका है। वे और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दोनों ने भारत में 21-21 टेस्ट जीते हैं। धोनी ने भारतीय जमीन पर कुल 30 टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी की है। इसमें से 3 में हार मिली और 6 टेस्ट ड्रॉ रहे। वहीं, विराट की कप्तानी में भारत ने घरेलू मैदानों पर 28 टेस्ट खेले। इनमें से दो में हार का सामना करना पड़ा और 5 टेस्ट ड्रॉ रहे।
तीसरा टेस्ट जीते तो कर लेंगे स्टीव वॉ की बराबरी
अगर भारतीय टीम यह टेस्ट मैच भी जीत लेती है तो विराट का घरेलू मैदानों पर रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्टीव वॉ की बराबरी पर आ जाएगा। तब भारतीय मैदानों पर विराट के नाम 29 टेस्ट में 22 जीत हो जाएगी। दूसरी ओर स्टीव वॉ ने भी अपने घरेलू मैदानों (ऑस्ट्रेलिया में) में 29 में से 22 मैचों में जीत हासिल की थी।
रूट इंग्लैंड के सबसे सफल कप्तान बनने से एक कदम दूर
वहीं, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट अपने देश के सबसे सफल कप्तान बनने से सिर्फ एक कदम दूर हैं। उन्होंने अब तक 47 टेस्ट में इंग्लैंड की कप्तानी की है, जिनमें से टीम को 26 टेस्ट में जीत मिली। इससे पहले यह रिकॉर्ड माइकल वॉन के नाम था। वॉन की कप्तानी में इंग्लैंड ने 51 में से 26 टेस्ट में जीत हासिल की थी। इसके अलावा एंड्र्यू स्ट्रॉस की कप्तानी में इंग्लिश टीम ने 50 में से 24 और एलिस्टेयर कुक की कप्तानी में 59 में से 24 टेस्ट में जीत हासिल की।
दोनों टीम विदेश में कोई पिंक बॉल टेस्ट नहीं जीत सकीं
पहला डे-नाइट टेस्ट नवंबर 2015 को खेला गया था। इसमें ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 3 विकेट से शिकस्त दी थी। तब से अब तक 10 टीमों के बीच 15 डे-नाइट टेस्ट हुए, जिसमें वेस्टइंडीज को छोड़कर कोई भी टीम घर में नहीं हारी है। हालांकि, भारत और इंग्लैंड दोनों ही टीमें अपना पिछला डे-नाइट टेस्ट हार चुकी हैं।
2018 में न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को ऑकलैंड में पारी और 49 रन से हराया था। वहीं, ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड में भारत को 8 विकेट से हराया था। दोनों ही टेस्ट में एक बात जो कॉमन रही, वह यह है कि इंग्लैंड और भारत दोनों टीमें 60 से कम स्कोर पर ऑलआउट हुई थीं। न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को 58 रन और ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 36 रन पर ऑलआउट कर दिया था।

Previous articleगोंडा में नाबालिग से दरिंदगी: हाईस्कूल की छात्रा को साइकिल से गिराकर गन्ने के खेत में खींच ले गए आरोपी, विरोध करने पर चाकू से किए कई वार
Next articleसोने की कीमतें 148 रुपए गिरकर 46,307 रुपए प्रति 10 ग्राम तक पहुंची, चांदी की कीमतों में 886 रुपए की गिरावट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here