Home खास ख़बरें रतलाम में किल कोरोना अभियान के तहत डॉक्टर कर रही थी ईसाई...

रतलाम में किल कोरोना अभियान के तहत डॉक्टर कर रही थी ईसाई धर्म का प्रचार, भाजपा ने उठाए सवाल

13
0

एसडीएम ने भेजा प्रतिवेदन, निलंबित हो सकती है डॉक्टर
रतलाम।
शनिवार को रतलाम जिले में कोरोना संक्रमण दूर करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे किल कोरोना अभियान के तहत एक डॉक्टर द्वारा लोगों को कोरोना से ठीक होने के लिए ईसाई धर्म की प्रार्थना करने का वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है। सैलाना एसडीएम ने जांच में डॉक्टर द्वारा ईसाई धर्म की प्रार्थना करने की बात की पुष्टि हो गई है। बताया जाता है कि एसडीएम ने अपना प्रतिवेदन बनाकर कलेक्टर को सौंप दिया है। इस मामले में डॉक्टर जल्द ही निलंबित हो सकती है। इस मामले पर भाजपा भी सख्त हो गई है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने उक्त युवती का वीडियो ट्वीट करते हुए कहा कि नर्स की आड़ में ईसाई मिशनरी का वीडियो, किल कोरोना अभियान में ईसा मसीह को अपनाने का आह्वान। जानकारी के अनुसार डॉ. संध्या तिवारी बीएएमएस डॉक्टर है और फरवरी 2021 से बाजना में संविदा पद पदस्थ है। किल कोरोना अभियान के तहत लोगों को डाइट चार्ट बताना था, लेकिन डॉ. संध्या तिवारी एक पर्चा बांटकर लोगों को कोरोना से ठीक होने और ठीक रहने के लिए प्रभु यीशु की प्रार्थना करने को कह रही थी। सर्वे के दौरान ईसाई धर्म का प्रचार करने व पर्चे वितरित किए जाने की जानकारी स्थानीय लोगों व समाजसेवियों को मिली थी। शनिवार दोपहर बाद कोरोना दल के सदस्यों द्वारा बाजना के राजपूत मोहल्ले में सर्वे के दौरान संध्या तिवारी द्वारा एक घर में ईसाई धर्म के प्रचार से जुड़ा पर्चा दिया तो वहां के लोगों ने आपत्ति जताई। इसके बाद हिंदू संगठनों व आरएसएस के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंचे। सूचना के बाद मौके पर तहसीलदार भगवानदास ठाकुर ने पहुंचे और लोगों के बयान लिए, जिसमें नर्स संध्या तिवारी द्वारा धार्मिक प्रचार करने की बात सही पाई गई है।
प्रार्थना करो, ठीक हो जाएगा कोरोना
स्थानीय लोगों का आरोप है कि बाजना के ग्रामीण क्षेत्रों में भी नर्स द्वारा ईसाई धर्म से जुड़े पर्चे बांटे गए। इन पर्चों में ईसाई धर्म संबंधी टीवी चैनल शो, वेबसाइट आदि की जानकारी के साथ ही प्रार्थना आदि की जानकारी दी गई थी। मौके से एक पर्चा भी बरामद किया गया है। बाजना के रहवासियों ने बताया कि नर्स द्वारा प्रार्थना करने से कोरोना नहीं होने का हवाला दिया जा रहा था। एसडीएम सैलाना कामिनी ठाकुर ने कहा कि संध्या तिवारी पर कार्रवाई का प्रतिवेदन बनाकर कलेक्टर को भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here