Home खास ख़बरें गृहमंत्री नरोत्तम बोले यह जांच विषय-मुख्यमंत्री रहते कमलनाथ ने कौन-कौन से दस्तावेज...

गृहमंत्री नरोत्तम बोले यह जांच विषय-मुख्यमंत्री रहते कमलनाथ ने कौन-कौन से दस्तावेज अपने पास रखे

20
0

कमलनाथ की उत्पत्ति ही आग से हुई, उम्र के चौथे पड़ाव में उनसे ऐसी उम्मीद नहीं थी भोपाल। बीते दिनों सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे भाजपा नेता प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ का वीडियो बता रहे हैं। इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को कहा कि कमलनाथ जी की उत्पत्ति ही आग से हुई है। कांगे्रस सरकार द्वारा लगाई गई इमरजेंसी में वह भागीदार रहे है। वर्ष 1984 के दंगों में लोगों के घर जलाए, अब मध्यप्रदेश को जलाने की बात कर रहे हैं। कोरोना के इस आपदा काल में जब उन्हें पीडि़त लोगों के बीच होना चाहिए था। उनकी सेवा करनी चाहिए था, जब आग लगाने की बात कर रहे हैं। आपदा में कभी तो सेवा की बात कर लीजिए कमलनाथ जी।
कमलनाथ के पास कई सरकारी दस्तावेज हो सकते हैं
बीते दिनों कांगे्रस विधायक उमंग सिंघार पर प्रकरण दर्ज होने के बाद कमलनाथ ने कहा कि उनके पास भी हनीट्रैप की सीडी है। इस पर गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि जिस मामले की जांच की मानीटरिंग हाईकोर्ट कर रहा है। हाईकोर्ट के निर्देशन में एसआईटी पूरे मामले की जांच कर रही है, उससे संबंधित पेनड्राइव का उनके पास होना सोच के साथ शोध का भी विषय है। अगर कमलनाथ के पास हनीट्रैप की पेनड्राइव है, तो जरूर उसमें कांगे्रसी फंसे ेहोंगे। ऐसे में कमलनाथ मुख्यमंत्री रहते हुए पता नहीं कौन-कौन से उन्होंने दस्तावेज गायब किए होंगे, इसकी भी जांच होनी चाहिए। ज्ञात हो कि जिस वीडियो को कमलनाथ का बताया जा रहा है, उस वीडियो में एक व्यक्ति मप्र की कोरोना और किसान हितैषी शिवराज सरकार के कार्यों का जिक्र करने के साथ आग लगाने की बात कह रहा है। कांगे्रस ने इस वीडियो को कमलनाथ को बदनाम करने के लिए एडिट कर वायरल करने का आरोप लगाया है।
कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में
गृह मंत्री ने कहा कि शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 4354 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इससे दोगुना से अधिक 9405 लोग स्वस्थ हुए हैं। इंदौर और भोपाल में स्थित तेजी से सुधर रही है। अब प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट 6 प्रतिशत से नीचे 5.8 पर आ चुका है। उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में संसाधन उपलब्ध है, कहीं कोई कमी नहीं है न ऑक्सीजन की, न रेमडेसीविर इंजेक्शन की, न आईसीयू की, न बेड की। मध्य प्रदेश सरकार ने माकूल प्रबंध किए गए हैं अब हमारे पास ऑक्सीजन इंजेक्शन सब सर प्लस में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here