Home खास ख़बरें गृह मंत्री अमित शाह ने की मानसून की तैयारियों और बाढ़ की...

गृह मंत्री अमित शाह ने की मानसून की तैयारियों और बाढ़ की स्थिति की समीक्षा

26
0

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को देश में मानसून की तैयारी और बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की अध्यक्षता की। उच्चस्तरीय बैठक में जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत सहित अन्य अधिकारी भी शामिल हुए। इस बार मानसून देशभर में करीब 10 दिन पहले आ गया है।

14 जून को पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के बयान के अनुसार, अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्वी, मध्य और पूर्वोत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में गरज के साथ छींटे और बिजली गिरने की भविष्यवाणी की गई है। अगले 4 दिनों के दौरान कोंकण और गोवा, कर्नाटक और केरल और महाराष्ट्र में गरज के साथ भारी से बहुत भारी बारिश होने और बिजली गिरने की संभावना है।

धीमा पड़ा मानसून, उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में इंतजार बढ़ा

पछुआ हवाओं के कारण मानसून की रफ्तार धीमी पड़ने से उत्तर भारत के कुछ क्षेत्रों में मानसून का इंतजार बढ़ सकता है। इन क्षेत्रों में अब कुछ दिनों की देरी से मानसून पहुंचने की उम्मीद है। यह पूर्वानुमान सोमवार को भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने व्यक्त किया।

आइएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि मौसम विभाग ने दक्षिण-पश्चिम मानसून के 15 जून तक देश की राजधानी में पहुंचने की उम्मीद जताई थी। हालांकि, मौजूदा परिस्थितियों में ऐसा होने की संभावना नहीं है। महापात्रा ने कहा कि आइएमडी के अनुसार मानसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) दीव, सूरत, नंदूरबार, भोपाल, नौगांव, हमीरपुर, बाराबंकी, बरेली, सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर से होकर गुजर रही है।

आइएमडी के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून अब तक पूरे प्रायद्वीप (दक्षिण भारत), पूर्व मध्य और पूर्व और उत्तर-पूर्वी भारत और उत्तर-पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में सक्रिय मानसून परिसंचरण और बिना किसी अंतराल के कम दबाव वाले क्षेत्र के गठन के साथ आगे बढ़ा है।

Previous articleबड़ी राहत! दूसरी लहर में बच्चों पर कोरोना का पहले से ज्यादा कहर नहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिए आंकड़े
Next articleदिल्ली-मुंबई के बीच बढ़ी राजधानी ट्रेनों की गति, 12 घंटे में पूरा होगा सफर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here