Home » हेडगेवार जन्मजात राष्ट्रभक्त थे, संघ की निष्ठा पर सवाल बेमतलब : मुस्लिम राष्ट्रीय मंच

हेडगेवार जन्मजात राष्ट्रभक्त थे, संघ की निष्ठा पर सवाल बेमतलब : मुस्लिम राष्ट्रीय मंच

जनसंख्या नियंत्रण विधेयक लाने समेत कई प्रस्ताव पारित, भोपाल में जारी है मंच के अभ्यास वर्ग की बैठक

भोपाल। राजधानी भोपाल में आयोजित मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के अभ्यास वर्ग के दूसरे दिन भी तमाम जटिल विषयों पर चर्चा हुई और प्रस्ताव पारित किए गए। बैठक में कहा गया कि डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जन्मजात देशभक्त थे और राष्ट्रभक्ति आरएसएस की मौलिक पहचान और निशानी है। डॉ. हेडगेवार या संघ की राष्ट्रवादिता पर कभी भी कोई संदेह या सवाल नहीं किया जा सकता।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के भोपाल अभ्यास वर्ग के दूसरे दिन शिरकत कर रहे सभी मुस्लिम कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों ने जनसंख्या नियंत्रण विधेयक लाने समेत सभी प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित किया। अभ्यास वर्ग में जनसंख्या नियंत्रण विधेयक लाने, उस पर शिद्दत से अमल करने पर भी प्रस्ताव पारित हुआ। आज के मुस्लिम युवाओं का क्या किरदार हो, इसे लेकर भी बहस हुई।

शिक्षा के महत्व पर जोर दिया गया। अभ्यास वर्ग में आरएसएस कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार, आरएसएस के संपर्क प्रमुख रामलाल और मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत अनेक गणमान्य व्यक्तियों ने कार्यक्रम में शिरकत की।

लव जिहाद की आग में कब तक बेटियां जलेंगी

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने जनसंख्या नियंत्रण पर जोर दिया तथा शिक्षा और युवाओं के किरदार पर जोर देने का प्रस्ताव पारित किया। इस मौके पर मंच ने आत्ममंथन के दौरान खुद से यह सवाल भी पूछा कि आखिर लव जिहाद की आग में कब तक बेटियां जलेंगी? जहां तक जनसंख्या के बढ़ने का सवाल है भारत की आबादी 140 करोड़ से भी ऊपर हो चुकी है। यह आश्चर्यजनक है कि भारत में विश्व की आबादी की कुल 17 प्रतिशत जनसंख्या रहती है जबकि संसाधनों के मामले में हमारे पास दुनिया के सिर्फ 6 प्रतिशत संसाधन ही हैं।

शिक्षा की स्थिति पर चिंता

मुस्लिम आबादी की शिक्षा की स्थिति को लेकर भी अभ्यास वर्ग में गहरी चिंता व्यक्त की गई। भारत में मुस्लिम ग्रेजुएट की तादाद 3 प्रतिशत से भी कम है। स्कूल ड्रॉप आउट की दर भी मुसलमानों में सबसे ज्यादा है। तालीम की कमी की वजह से तहजीब और तरक्की में भी कमी आती है। रोजगार नहीं होते हैं। दूसरी तरफ बढ़ती जनसंख्या के कारण रोजगार और दूसरे संसाधनों की भी कमी रहती है।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की दो टूक

प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी थोड़ी देर के लिए अभ्यास वर्ग में शिरकत की। उन्होंने भी बड़े धैर्य के साथ लोगों की बातें सुनीं और खुले दिल से मंच की तारीफ की। उन्होंने कहा कि यह एक राष्ट्रवादी संगठन है और राष्ट्रवाद सर्वोपरि है। गृह मंत्री ने कहा कि, “मैं रसखान और रहीम के भक्त हूं, उनको पूजता भी हूं… लेकिन समस्या वैसे लोगों से है जो रहते खाते तो हिंदुस्तान का हैं लेकिन गाते पाकिस्तान का हैं।”

रामलाल ने दी धैर्य, हिम्मत की सीख

इस दौरान आरएसएस के वरिष्ठ नेता और संघ के संपर्क प्रमुख राम लाल ने बड़ी गंभीरता से सभी की बातें सुनी और मंच की जोरदार तारीफ करते हुए एक सफल संगठन की बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं दीं। भर से आए कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि गंभीरता और परिपक्वता समय के साथ साथ आती है। रामलाल ने कैफ़ी आज़मी के एक शेर से अपनी बात शुरू की… उन्होंने कहा, “बस्ती में अपने हिंदू मुसलमान तो बस गए, इंसान की शक्ल देखने को हम तरस गए”।

उन्होंने कहा कि आज कि तारीख में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच इतना बड़ा हो चुका है कि मैं समझता हूं कि देश में हिंदू मुसलमान बनाने के तो बहुत काम होते हैं, लेकिन यह मंच सिर्फ “इंसान बनाने” का काम करता है।

Hedgewar was a born patriot, questioning the allegiance of the Sangh is meaningless: Muslim National Forum

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd