Home खास ख़बरें गति शक्ति योजना अगले 25 वर्षों के विकास की नींव है :...

गति शक्ति योजना अगले 25 वर्षों के विकास की नींव है : प्रधानमंत्री

29
0
NEW DELHI, OCT 13 (UNI):- Prime Minister Narendra Modi addressing during the launch of PM GatiShakti - National Master Plan for multi-modal connectivity, at Pragati Maidan in New Delhi UNI PHOTO-18U
NEW DELHI, OCT 13 (UNI):- Prime Minister Narendra Modi at the launch of the PM Gati Shakti – National Master Plan, in New Delhi on Wednesday.UNI PHOTO-56U
  • योजना के शुभारंभ पर मोदी ने पूर्व की सरकारों पर साधा निशाना
  • प्रधानमंत्री ने लांच किया 100 लाख करोड़ की गति शक्ति योजना
  • पहले ‘कार्य प्रगति पर है’ का बौर्ड लगा देते थे, काम अधूरा रह जाता था
  • लाखों रोजगार पैदा होने की संभावना, आत्मनिर्भर भारत का एक महत्वपूर्ण कदम


उमेश कुमार, नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुर्गाष्टमी के मौके पर बुधवार को ‘प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना’ की शुरुआत की। इस मौके पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज दुर्गाष्टमी है, पूरे देश में शक्ति स्वरूपा का पूजन हो रहा है। शक्ति की उपासना के इस पुण्य अवसर पर देश की प्रगति की गति को भी शक्ति देने का शुभ कार्य हो रहा है। इस मौके पर उन्होंने केंद्र की पूर्ववती सरकारों पर भी निसाना साधाते हुए कहा कि पहले सरकारी अधिकारी ‘कार्य प्रगति पर है’ का बोर्ड लगा देते थे और काम लटका ही रह जाता था। इस लापरवाही के चलते प्रोजेक्ट को पूरा होने में काफी वक्त लग जाता था और पैसे का भी दुरुपयोग होता था।

प्रधानमंत्री गति शक्ति-राष्ट्रीय मास्टर प्लान 21वीं सदी के भारत की गति को शक्ति देगा। अगली पीढ़ी के अधोसंरचना और ‘मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी को इस राष्ट्रीय योजना से गति शक्ति मिलेगी। दुनिया में ये स्वीकृत बात है कि क्वालिटी इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण अनेक आर्थिक गतिविधियों को जन्म देता है।

छह स्तंभो पर आधारित यह योजना

प्रधानमंत्री ने कहा कि गतिशक्ति परियोजना व्यापकता, प्राथमिकता, अनुकूलन, समकालीन और विश्लेषणात्मक तथा गतिशील होने के छह स्तंभों पर आधारित है। यह बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करेगा, रसद लागत में कटौती करेगा, आपूर्ति श्रृंखला में सुधार करेगा और स्थानीय वस्तुओं को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बना देगा।

सभी विभागों को एक केंद्रीकृत पोर्टल के माध्यम से एक-दूसरे की परियोजनाओं का पता चलेगा और मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी लोगों, वस्तुओं और सेवाओं के आदान-प्रदान के लिए एकीकृत और निर्बाध कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। इस योजना के अंतर्गत किसी भी योजना के निर्माण, डिजाइन में भारतमाला, सागरमाला, अंतरदेशीय जलमार्ग, शुष्क भूमि, बंदरगाह, उड़ान जैसे विभिन्न मंत्रालयों और राज्य सरकार की ढांचागत परियोजनाओं को शामिल किया जाएगा।

राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर था अधेसंरचना का विषय

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस योजना से सभी प्रोजेक्ट अब तय समय पर पूरे होंगे और टैक्स का एक भी पैसा बर्बाद नहीं होगा। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय ज्यादातर राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है। ये उनके घोषणा पत्र में भी नजर नहीं आता है। अब तो ये स्थिति आ गई है कि कुछ राजनीतिक दल देश के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर आलोचना करने में गर्व करते हैं।

आगे बढ़ रहा भारत

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज 21वीं सदी का भारत, सरकारी व्यवस्थाओं की उस पुरानी सोच छोड़ आगे बढ़ रहा है। आज का मंत्र है, प्रगति के लिए इच्छा, प्रगति के लिए कार्य, प्रगति के लिए धन, प्रगति की योजना, प्रगति के लिए वरीयता। आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ हम, अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रच रहे हैं। पीएम गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान, भारत के इसी आत्मबल को, आत्मविश्वास को आत्मनिर्भरता के संकल्प तक ले जाने वाला है।

इन्वेस्टर्स को मिलेगी मदद

पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान देश की पॉलिसी मेकिंग से जुड़े सभी स्टेकहोल्डर्स को, इन्वेस्टर्स को एक विश्लेष्णात्मक और डिसीजन मेकिंग टूल भी देगा। इससे सरकारों को प्रभावी प्लानिंग और पॉलिसी बनाने में मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि 2014 से पहले के 5 सालों में सिर्फ 3,000 किलोमीटर रेलवे का बिजलीकरण हुआ था। बीते सात सालों में हमने 24 हजार किलोमीटर से भी अधिक रेलवे ट्रैक का बिजलीकरण किया है।

मेट्रो रेल के क्षेत्र में हमारा विकास जबरदस्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2014 के पहले लगभग 250 किलोमीटर ट्रैक पर ही मेट्रो चल रही थी। आज 700 किलोमीटर तक मेट्रो का विस्तार हो चुका है और 1,000 किलोमीटर नए मेट्रो रूट पर काम चल रहा। उन्होंने कहा कि जैसे स्किल मैनपावर के बिना हम किसी भी क्षेत्र में ज़रूरी परिणाम प्राप्त नहीं कर सकते हैं, वैसे ही आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के बिना हम चौतरफा विकास नहीं कर सकते हैं। 

Previous articleवायुसेना की ताकत और बढ़ेगी, फ्रांस से आ रहे हैं तीन और राफेल विमान
Next articleसावरकर ने कभी माफी नहीं मांगी, वो हमारे आदर्श हैं और रहेंगे : संजय राउत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here