Home » जालसाजी : इंजीनियरिंग के छात्र ने माता-पिता को बीमार बताकर 4 जूनियरों से 5 लाख ठगे

जालसाजी : इंजीनियरिंग के छात्र ने माता-पिता को बीमार बताकर 4 जूनियरों से 5 लाख ठगे

आरोपी छात्र के खिलाफ अमानत में खयानत का केस दर्ज

भोपाल। रायसेन रोड पर स्थित एक इंजीनियरिंग कॉलेज के सीनियर छात्र ने अपने चार जूरियर छात्रों को मामा-पिता की गंभीर बीमारी का झांसा देकर परीक्षा फीस भरने के लिए करीब पांच लाख रूपए ले लिए। जब छात्रों को उसकी कहानी का झूठ पता चलता तो उन्होंने उससे अपने पैसे वापस मांगे। इस पर आरोपी छात्र पैसा देने से इनकार कर शहर छोड़कर भाग गया। पुलिस ने आवेदन जांच के लिए आरोपी के खिलाफ अमानत में खयानत का केस दर्ज किया है।

थाना प्रभारी भरत प्रताप सिंह ने बताया कि ई-2/41 अरेरा कॉलोनी निवासी आजिन्यक इंगलकर पुत्र निखित इंगलकर (20) पटेल नगर स्थित एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में बी.टेक फोर्थ सेमेस्टर का छात्र है। उसने पुलिस को बताया कि कॉलेज में चार साल की पढ़ाई के दौरान उसकी कॉलेज में पढ़ने वाले तुषार, विकास यादव, पारस त्रिवेदी व सीनियर छात्र नितिन सिन्हा से गहरी दोस्ती हो गई थी।

इसी दौरान 28 अप्रैल 2022 को सीनियर छात्र नितिन सिन्हा ने उसे व उसके दोस्तों को बताया कि उसके माता-पिता किसी गंभीर बीमारी का शिकार हो गए हैं।

उसके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं चल रही है। इस कारण उसके पास कॉलेज की परीक्षा फीस भरने के लिए पैसे नहीं हैं। यह कहते हुए उसने आजिन्कल से 1.77 लाख रूपए, तुषार से 52,500 रूपए, विकास यादव से 2.10 लाख रूपए और पासर त्रिवेदी से 50 हजार रूपए ले लिए। पैसा देने के कुछ समय बात छात्रों को पता चला कि नितिन सिन्हा ने उन्हें माता-पिता की बीमारी की झूठी कहानी सुनाकर पैसा लिया है।

इसके बाद छात्रों ने अपने सीनियर छात्र से पैसा वापस मांगा तो उसने देने से इनकार कर दिया। वहीं शहर छोड़कर बिहार फरार हो गया। घटना के बाद छात्रों ने थाना पुलिस को लिखित शिकायत की थी। जिसकी जांच के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

Forgery: engineering student cheated 5 lakhs from 4 juniors by telling parents sick

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd