Home खास ख़बरें चक्रवात यास: प्रधानमंत्री ने प्रभावित राज्यों के लिए 1000 करोड़ रुपये की...

चक्रवात यास: प्रधानमंत्री ने प्रभावित राज्यों के लिए 1000 करोड़ रुपये की राहत का एलान किया

17
0
  • मारे गए लोगों के परिवारों को 2 लाख रुपए मुआवजा देगा केंद्र, नुकसान के आकलन के बाद राज्यों को आर्थिक मदद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज चक्रवात ‘यास’ से ओडिशा और पश्चिम बंगाल में हुए नुकसान का जायजा लिया। इसके बाद उन्होंने राहत पैकेज की घोषणा की. प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, ओडिशा को तत्काल प्रभाव से 500 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। पश्चिम बंगाल और झारखंड को मिलाकर नुकसान के हिसाब से बाकी 500 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि नुकसान का आकलन करने के लिए केंद्रीय टीम राज्यों का दौरा करेगी। आकलन के आधार पर आगे की सहायता दी जाएगी। प्रधानमंत्री ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड को आश्वासन दिया कि केंद्र इस कठिन समय में राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करेगा। पीएम मोदी ने चक्रवात से जान गंवाने वाले परिवार को 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये देने की घोषणा की।

प्रधानमंत्री दिल्ली से रवाना होने के बाद पहले भुवनेश्वर गए, यहां उन्होंने समीक्षा बैठक की. बैठक में ओडिशा के मुख्यमंत्री के अलावा राज्यपाल गणेशी लाल, केंद्रीय मंत्रियों धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप सारंगी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

इसके बाद प्रधानमंत्री बालासोर और भद्रक के प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के लिए निकल गए। यहां से पश्चिम बंगाल आए और समीक्षा बैठक की। सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि हिंगलगंज और सागर में समीक्षा बैठक करने के बाद, मैं कलाईकुंडा में पीएम मोदी से मिली और उन्हें पश्चिम बंगाल में चक्रवात के बाद की स्थिति से अवगत कराया मैंने नुकसान पर रिपोर्ट सौंपी। अब मैं नुकसान का जायजा लेने दीघा जा रही हू।

चक्रवात यास बुधवार को ओडिशा के तटीय इलाके से टकराया था। चक्रवात से जुड़ी घटनाओं में अब तक चार लोगों की मौत हुई है, जबकि इसके कारण ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड में 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

पश्चिम बंगाल सरकार ने दावा किया है कि इस प्राकृतिक आपदा के कारण कम से कम एक करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं।‘ताउते’ के बाद एक सप्ताह के भीतर देश के तटों से टकराने वाला ‘यास’ दूसरा चक्रवाती तूफान है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here