Home खास ख़बरें कोरोना का डेल्टा वैरिएंट अब हुआ डेल्टा प्लस, पहले के मुकाबले कितना...

कोरोना का डेल्टा वैरिएंट अब हुआ डेल्टा प्लस, पहले के मुकाबले कितना खतरनाक

27
0

नई दिल्ली। भारत में सबसे पहले पाए गए कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट म्यूटेट होकर अब डेल्टा प्लस हो गया है। डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर वैज्ञानिकों ने कहा कि यह कोरोना वायरस की दूसरी लहर में तबाही मचाने वाले बी.1.617.2 स्ट्रेन का एक बदला हुआ स्वरूप है। इस बदले वैरिएंट को डेल्टा प्लस या फिर एवाई.1 कहा जा रहा है।

दिल्ली के सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (आईजीआईबी) के निदेशक अनुराग अग्रवाल बात करते हुए कहा कि चिंता की कोई जरुरत नहीं क्योंकि नए वैरिएंट की रिपोर्ट अभी भी कम है और अभी तक बीमारी की गंभीरता के बारे में कोई संकेत नहीं मिला है।

सीएसआईआर-आईजीआईबी के एक अन्य वैज्ञानिक विनोद स्कारिया ने कहा कि इस समय यूरोप, अमेरिका और अन्य एशियाई देशों में K417N वैरिएंट के मामले ज्यादा मिल रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इस वायरस का ट्रैवेल हिस्ट्री अभी तक उपलब्ध नहीं है इसलिए इसके प्रसार का अनुमान लगाना अभी ठीक नहीं है।

वैज्ञानिकों को आशंका है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट पर भारत में हाल ही में अधिकृत मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल ज्यादा असरदायक नहीं है। ये कॉकटेल कासिरिविमैब और इम्देवीमैब वायरस को मानव कोशिकाओं से जुड़ने और शरीर में प्रवेश करने से रोकने के लिए डिजाइन किए गए हैं, और एंटीबॉडी के समान हैं, जो मानव शरीर स्वाभाविक रूप से बीमारी से बचाव के लिए पैदा करता है।

वहीं, ब्रिटेन की स्वास्थ्य संस्था पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड की एक रिपोर्ट के मुताबिक डेल्टा वैरिएंट के 63 जीनोम नए K417N म्यूटेसन के साथ सामने आए हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के 6 केस सामने आ चुके थे।

Previous articleकोरोना महामारी के चलते इस बार भी रद्द किए गए हज यात्रियों के आवेदन
Next articleकाम पर नहीं गई बीमार पत्नी तो बेल्ट से पीट-पीटकर की हत्या, बेटी से भी की बेरहमी से मारपीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here