जल जीवन मिशन के काम में विलंब नहीं करेंगे बर्दाश्त, गुणवत्ता से नहीं होगा समझौता

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जल जीवन मिशन की समीक्षा में दिए निर्देश।
भोपाल ।
मध्य प्रदेश के हर घर में नलल से जल पहुंचाना सरकार की प्रतिबद्धता है। इस काम में विलंब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और न ही गुणवत्ता से कोई समझौता स्वीकार होगा। समय सीमा में काम पूरा कराएं। निर्माण एजेंसियों को उनकी क्षमता के अनुसार ही काम दिया जाए और इसकी नियमित निगरानी भी हो। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में आयोजित जल जीवन मिशन की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन में संचालित गतिविधियों को समय सीमा में पूरा कराने के लिए पर्याप्त तकनीकी अमला उपलब्ध कराया जाएगा। जहां जल स्रोत कमजोर हों, वहां उसे समृद्ध करने के लिए जलाभिषेक अभियान में विशेष प्रयास किए जाएं। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के 51 हजार 585 ग्रामों में जल जीवन मिशन के तहत पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है। 39 हजार 565 ग्रामों के लिए स्वीकृतियां जारी की जा चुकी हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जल प्रदाय योजनाओं की प्रगति और पूर्णता की संभावित तिथि की माहवार जानकारी देने के निर्देश दिए। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मलय श्रीवास्तव सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा-तकनीक के इस युग में काम में देरी बर्दाश्त नहीं
तकनीक के इस युग में काम में देरी बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। मिशन के काम समय से पूरे करें और जैसे-जैसे काम पूरे हों, उदघाटन भी होते जाएंगे। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। वे मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कमजोर जलस्त्रोत को समृद्ध बनाने के लिए जलाभिषेक अभियान में विशेष प्रयास करें। डिजिटल एंट्री और इलेक्ट्रानिक तरीके से कार्यों के माप की व्यवस्था करें। मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि काम की गुणवत्ता से किसी भी स्थिति में समझौता नहीं किया जाए। प्रदेश के हर घर में नल से जल पहुंचाना राज्य शासन की प्रतिबद्धता है। कार्य समयसीमा में पूरे हों, यह सुनिश्चित करें। संबद्ध एजेंसियों को उनकी क्षमता के अनुसार ही काम दें और काम की प्रगति पर अधिकारी निरंतर नजर रखें। उन्होंने कहा कि मिशन में संचालित गतिविधियों को समयसीमा में पूरा कराने के लिए पर्याप्त तकनीकी अमला उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने जल प्रदाय योजनाओं की प्रगति और पूर्णता की संभावित तिथि की माहवार जानकारी देने के निर्देश भी दिए। अधिकारियों ने बैठक में बताया कि प्रदेश के 51 हजार 585 ग्रामों में जल जीवन मिशन से जोड़ा गया है। इनमें से 39 हजार 565 ग्रामों के लिए योजनाएं स्वीकृत हो चुकी हैं।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News