Home » मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की बड़ी घोषणा : तीर्थ दर्शन योजना में शामिल होंगे बाबा साहेब अंबेडकर के पंचतीर्थ

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की बड़ी घोषणा : तीर्थ दर्शन योजना में शामिल होंगे बाबा साहेब अंबेडकर के पंचतीर्थ

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बाबासाहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर बड़ी घोषणा

महू में हजारों की संख्या में अनुयायी पहुंचे बाबा साहेक के स्मारक उन्हें श्रद्धांजलि देने

स्मारक स्थल महू में साढ़े तीन एकड़ जमीन पर बनेगा श्रद्धालुओं के लिए विश्राम गृह

भोपाल। आज देशभर के साथ पूरे प्रदेश में संविधान निर्माता, भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई जा रही है। प्रदेशभर में भी आयोजन हो रहे हैं। प्रदेश में मुख्य आयोजन महू में डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर के स्मारक स्थल पर हो रहा है। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित तमाम पार्टियों के नेता और बाबा साहेब के हजारों अनुयायी महू पहुंचे हैं। सभी नेताओं ने महू स्थित बाबा साहेब के स्मारक स्थल पर पहुंचकर उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की और उनके योगदान को याद किया।

महू रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में बड़ी घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने यहां कहा कि आज भारत के संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की जयंती है मैं उनके चरणों में प्रणाम करता हूं। हमने यह फैसला किया है कि बाबा साहेब से जुड़ी पंचतीर्थ जन्मभूमि महू, दीक्षाभूमि नागपुर, महापरिनिर्वाण भूमि दिल्ली और चैत्यभूमि जहां अंतिम संस्कार हुआ मुंबई, मुझे यह कहते हुए गर्व है की महू में अगर बाबा साहब का स्मारक बनाने का सौभाग्य मिला, तो हमें मिला।

पंचतीर्थ का निर्माण और वहां सभी आवश्यक व्यवस्थाएं, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हृदय से धन्यवाद देता हूं। उसके लिए उनके मार्गदर्शन में काम हुआ। मध्यप्रदेश का यह सौभाग्य है हमने तय किया है कि इन पंचतीर्थ को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत जोड़ रहे हैं। पंचतीर्थ में से एक तीर्थ है लंदन, पांचों तीर्थों को जो डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के जीवन से संबंधित है तीर्थ यात्रा के अंतर्गत जोड़ा जा रहा है।

यह हैं पंचर्तीर्थ

1- जन्म-भूमि महू

2- दीक्षा-भूमि नागपुर

3- महापरिनिर्वाण-भूमि दिल्ली

4- चैत्य-भूमि जहां अंतिम संस्कार हुआ मुंबई

5- संत रविदास मंदिर वाराणसी

साढ़े तीन एकड़ में बनेगी धर्मशाला

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महू में पूरी जमीन स्मारक के पास की सेना के पास है। चूंकि सेना की जमीन और उसके आसपास बिना अनुमति कोई निर्माण कार्य नहीं हो सकता है। ऐसे में स्मारक स्थल आने वाले अनुयायियों को अपना सामान खुद साथ लेकर चलना पड़ता है और खाने के लिए भोजन भी साथ लाना पड़ता है। अब राज्य सरकार के प्रयासों से सेना ने पास की साढ़े तीन एकड़ जमीन पर निर्माण कार्यों की अनुमति दे दी है। उस साढ़े तीन एकड़ जमीन पर धर्मशामा का निर्माण कराया जाएगा।

उक्त भूमि को बाबा साहेब स्मारक समिति को लीज पर दिया जाएगा। समिति वहां पर धर्मशाला बनाएगी, जहां बैठकर लोग आराम कर सकें, रुक सकें और खाना खा सके। लोगों को खाने, पानी और आरा करने के लिए जल्द ही व्यवस्था की जाएगी।–

भोपाल। एमपी नगर स्थित बोर्ड ऑफिस चौराहे पर स्थापित बाबासाहेक डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, मंत्री विश्वास सारंग और अन्य नेताओं ने माल्यार्पण किया।

Chief Minister Shivraj Singh’s big announcement: Panchteerth of Baba Saheb Ambedkar will be included in pilgrimage scheme.

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd