Home खास ख़बरें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कलेक्टर्स-कमिश्नर्स कांफ्रेंस में 20 बिंदुओं पर सुशासन, कानून-व्यवस्था और...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कलेक्टर्स-कमिश्नर्स कांफ्रेंस में 20 बिंदुओं पर सुशासन, कानून-व्यवस्था और योजनाओं के क्रियान्वयन की कर रहे समीक्षा

29
0

समीक्षा से पहले मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को किया संबोधित
भोपाल। कोरोना की दूसरी लहर शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने योजनाओं की मैराथन समीक्षा बैठक ली थी। इस बैठक में दिए गए निर्देशों के परिपालन, सुशासन, कानून-व्यवस्था और योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर एक बार फिर समीक्षा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज मैराथन समीक्षा से पहले प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर्स, संभायुक्त, पुलिस अधीक्षक और पुलिस महानिरीक्षकों सहित वीडियो कांफ्रेंसिंग में जुड़े अधिकारियों को संबोधित किया है। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सुशासन और जीरो टॉलरेंस पर जोर देने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान कांफ्रेंस के बाद शाम को कैबिनेट की बैठक भी करेंगे, जिनमें करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर विचार किया जाएगा।

इन बिंदुओं पर कांफ्रेंस कर रहे मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके पहले 10 मार्च को कलेक्टर्स-कमिश्नर्स, एसपी-आईजी की कांफ्रेंस को संबोधित किया था। आज हो रही कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री 10 मार्च को दिए गए निर्देशों के पालन की समीक्षा कर रहे हैं, इसके साथ प्रदेश में माफिया के विरुद्ध कार्यवाही, महिला अपराध एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा, कोरोना कल्याण योजनाओं के क्रियान्वयन और प्रदेश में पौधरोपण अभियान की समीक्षा कर रहे हैं।

इसके अलावा मुख्यमंत्री श्री चौहान एक जिला-एक पहचान योजना के क्रियान्वयन पर चर्चा करने के साथ जिलों में पीएसए ऑक्सीजन प्लांटस के निर्माण की स्थिति, जल जीवन मिशन के जमीनी क्रियान्वयन की समीक्षा, स्व-सहायता समूहों को दिलाए गए क्रेडिट लिंकेज की स्थापना, नगरीय क्षेत्रों में धारणाधिकार आवंटन के संबंध में राजस्व विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के पालन की स्थिति की जानकारी लेंगे।

इसके अलावा मुख्यमंत्री श्री चौहान राईस मिलिंग और खाद्यान्न के उठाव और विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत रोजगार उपलब्ध कराये जाने की स्थिति एवं रोजगार मेलों के आयोजन की समीक्षा के साथ-साथ मनरेगा के कार्यों की समीक्षा करेंगे। समीक्षा शाम करीब 6 बजे तक चलने वाली है।

Previous articleमुख्यमंत्री ने दिव्यांगों को बांटे कृतिम अंग, बोले- गरीब, किसान और आमजन को उसका अधिकार मिले, यही है ध्येय
Next articleमहिला सुरक्षा के लिए खतरा हैं पंजाब के मुख्यमंत्री, उन्हें पद से हटाया जाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here