Home खास ख़बरें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक...

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

66
0

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को पुलिस ने गिरफ्तार कर रायपुर की एक अदालत में पेश किया। कोर्ट ने उन्हें 15 दिन के न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। नंद कुमार के वकील गजेंद्र सोनकर ने बताया कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल को रायपुर की एक अदालत ने कथित तौर पर ब्राह्मण समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उन्हें 21 सितंबर को फिर से अदालत में पेश किया जाएगा। उनके निर्देश के अनुसार, मैंने आज उनकी जमानत के लिए आवेदन दायर नहीं किया।

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। एफआईआर दर्ज होने के बाद ही माना जा रहा था कि उनकी गिरफ्तारी हो सकती है। ब्राह्मण समाज के खिलाफ विवादित टिप्पणी को लेकर रायपुर के डीडी नगर पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

लखनऊ में ब्राह्मण समाज के खिलाफ दिए थे बयान

उल्लेखनीय है कि लखनऊ में नंद कुमार बघेल ने ब्राह्मण समाज के खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद इस समाज के लोगों में आक्रोश था। रायपुर पुलिस एफआईआर दर्ज होने के बाद ही उनकी गिरफ्तारी के लिए निकल गई थी। उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस रायपुर लेकर जा रही है। फिलहाल उन्हें मीडिया से दूर रखा गया है। लखनऊ से पहले भी नंद कुमार बघेल ने ब्राह्मणों के खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी। नंदकुमार बघेल लखनऊ शिक्षक भर्ती में गलत आरक्षण प्रक्रिया अपनाने पर धरना दे रहे युवाओं के बीच 30 अगस्त को पहुंचे थे और उनका समर्थन किया था। इस धरने में उन्होंने ब्राह्मणों को विदेशी बताते हुए बयानबाजी की थी। उन्होंने कहा था कि ब्राह्मण विदेशी हैं, जिस तरह अंग्रेज यहां से गए, वो भी यहां से जाएंगे। ब्राह्मण सुधर जाएं, या तो जाने के लिए तैयार रहें।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिए थे पिता के खिलाफ एफआईआर के निर्देश

दरअसल, पिता के खिलाफ शिकायत के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ही पिता पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा कि पिता के रूप में उन्हें पूरा सम्मान, लेकिन माहौल बिगाड़ने वाले लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा था कि कानून सबके लिए बराबर है, चाहे मेरे पिता ही क्यों न हों।

Previous articleआदिवासी युवक की मौत के बाद खरगोन के बिस्टान थाने में जमकर पत्थरबाजी, भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा- Video News
Next articleकिसानों का लघु सचिवालय कूच, राकेश टिकैत बोले- सरकार मांग माने या हमें गिरफ्तार करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here