Home खास ख़बरें मैजिक के रौंदने से सिक्यूरिटी गार्ड की मौत, संदिग्ध परिस्थिति में मृत...

मैजिक के रौंदने से सिक्यूरिटी गार्ड की मौत, संदिग्ध परिस्थिति में मृत मिला कारपेंटर

32
0

भोपाल। अयोध्या नगर थाना इलाके में ड्यूटी पर जा रहे साइकिल सवार गार्ड को अज्ञात मैजिक ने रौंद दिया। हादसा बीती रात आठ बजे का है। वहीं गौतम नगर इलाके में रहने वाले एक कारपेंटर की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई। पुलिस ने कमरे में बंद उसकी लाश को बरामद कर लिया है। बॉडी के आस पास खून मिला है। इधर, निशातपुरा में रहने वाली युवती ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बजरिया में वृद्ध ने फांसी लगाकर जान दे दी। पिपलानी में अधेड़ की उपचार के दौरान मौत हो गई। सभी मामलों में पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
अयोध्या नगर थाने के प्रधान आरक्षक नीलेंद्र तिवारी ने बताया कि 60 वर्षीय मोहन हरीजन पुत्र हीरालाल हरीजन नरेला संक री गांव के निवासी थे और मिनाल रेसीडेंसी में बतौर गार्ड कार्यरत थे। बीती रात आठ बजे साइकिल पर सवार होकर ड्यूटी पर जाने के लिए घर से निकले थे। मुस्कान हॉस्पिटल के सामने बायपास पर उन्हें एक अज्ञात मैजिक वाहन ने जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में मौके पर ही उनकी मौत हो गई। पुलिस ने बॉडी को मरचुरी में रखवा दिया है।

इधर, गौतम नगर थाना इलाका स्थित गली नंबर 24 मकान नंबर 189 शारदा नगर नारीयलखेड़ा निवासी राजेंद्र भोरिया पुत्र विनोद भोरिया (42) कल सुबह घर में संदिग्ध हालातों में मौत हो गई। राजेंद्र मूलत: गौरखपुर का निवासी था और यहां कारपेंटरी करे के साथ ही किराए का कमरा लेकर रहता था। उसके पांच बच्चे हैं, चार बेटी और एक बेटा सभी अपनी मां के साथ पांच माह पूर्व अपने गांव चले गए हैं। फिलहाल राजेंद्र घर में अकेला रहता था। कल सुबह उसके मकान मालिक ने काफी देर से गेट नहीं खुलने के बाद एफआरवी को मामले की जानकारी दी थी। सूचना के बाद में पुलिस मौके पर पहुंची और गेट तोड़कर शव बरामद किया। बॉडी के पास खुन था, नाक से भी ब्लिडिंग हो रही थी। पुलिस का अनुमान है कि ब्रेनहेमरेज अथ्वा हार्ट अटैक के कारण उसकी मौत हुई है। वहीं पिपलानी स्थित आनंद नगर में रहने वाले 54 वर्षीय गजेंद्र पुत्र रामदास को दो दिन पहले तबीयत बिगडऩे के बाद में जेपी अस्पताल में परिजनों द्वारा भर्ती कराया गया था। उपचार के दौरान बीती रात उनकी मौत हो गई।

बीमारी से तंग वृद्ध फांसी पर झूले
बजरिया थाने के एएसआई अमर सिंह विमल ने बताया कि भरत कुशवाह पुत्र राजकुमार कुशवाह (60)सांई मंदिर के पास द्वारका नगर में रहते थे और पूर्व में मजदूरी करते थे। कई बीमारियों से ग्रस्त थे। संभवता: बीमारियों से तंग आकर उन्होंने फांसी लगाई है। हालांकि भरत पारिवारिक कारणों को लेकर भी तनाव में रहते थे। जांच अधिकारी का कहना है कि परिजनों के बयानों के बाद ही खुदकुशी के कारणों का खुलासा हो सकेगा। फिलहाल बॉडी का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

शादी के 6 माह बाद महिला ने फांसी लगाई
निशातपुरा थाने के एसआई करण सिंह के अनुसार 22 वर्षीय तबस्सुम पति रेहान मोतीलाल नगर न्यू जेल रोड की निवासी थी। बीती रात उसने घर में फांसी लगाकर लॉक डाउन में बीते 6 माह पूर्व उसकी शादी हुई थी। पति रेहान ऑटो चालक है, जबकि तबस्सुम गृहणी थी। मृतका के परिजनों के आरोप हैं कि शादी के बाद से ही रेहान दहेज में गाड़ी नहीं मिलने से नाराज होकर विवाद करता था और लड़की को परेशान करता था। खुदकुशी के पूर्व भी उसने पत्नी से विवाद किया था। वहीं तबस्सुम के ससुराल वालों ने पुलिस को बताया कि बीती रात रेहान और पत्नी के बीच राशन का सामान लाने को लेकर विवाद हुआ था। जिसके बाद में उसने फांसी लगाकर खुदकुशी की है। मामले में पुलिस जांच के बाद दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज करेगी।

Previous articleजालसज महिला-पुरुष ने रिश्तेदार बनकर डेंटिस्ट से 20 हजार ठग लिए
Next articleआइसीसी टी20 विश्व कप : दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी फ्लॉप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here