Home खास ख़बरें जालसज महिला-पुरुष ने रिश्तेदार बनकर डेंटिस्ट से 20 हजार ठग लिए

जालसज महिला-पुरुष ने रिश्तेदार बनकर डेंटिस्ट से 20 हजार ठग लिए

64
0

गृहणी को कोविड आर्थिक पैकेज दिलाने का झांसा देकर ठग लिए
भोपाल। राजधानी में बीते 24 घंटे में तीन अलग-अलग थाना क्षेत्र में धोखाधड़ी के मामले दर्ज किए गए हैं। एक मामले में डेंटिस्ट को एक महिला-पुरुष ने पैसे देने और लेने की बातों में रिश्तेदार बनकर बात किए और बातों में उलझाकर 20 हजार रुपए ले लिए। वहीं एक महिला को कोविड की वजह से आर्थिक पैकेज दिलाने का झांसा देकर ठग लिए। बागसेवनिया पुलिस के अनुसार अंकुर बेलवंशी पुत्र हरिसिंह बेलवंशी (45)वैष्णों परिसर बागसेवनिया में परिवार के साथ रहते हैं और जहांगीराबाद क्षेत्र में दातों की क्लीनिक चलाते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि 16 अक्टूबर को एक व्यक्ति ने फोन किया और उन्हें अपना रिश्तेदार बताया। इसके बाद उसी मोबाइल पर जालसाज ने रेखा पाटिल नाम की महिला और एक अन्य को भी रिश्तेदार बताकर बात कराई। तीनों बारी-बारी से बात कर उन्हें बातों में उलझाया और उनसे फोन पे के माध्यम से 20 हजार रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए। विश्वास जताने के लिए रेखा पाटिल नाम की महिला ने उन्हें दो रुपए वापस भी किए, बाकी पैसा वापस करने का झांस दिया और फिर फोन बंद हो गया।


वहीं टीला जमालपुरा थाना क्षेत्र के राजीव नगर में रहने वाली महिला रिंकी बाधवानी पति चंद्रप्रकाश वाधवानी (30) गृहणी हैं। उन्हें 17 अक्टूबर को एक व्यक्ति ने फोन किया और कहा कि सरकार द्वारा कोरोना के चलते लोगों को हुई परेशानी से उबारने के लिए आर्थिक पैकेज दिए जा रहे हैं। कुछ पैसे खर्च करने पर लाखों रुपए का आर्थिक पैकेज आपको मिल सकता है। आपका चयन हो गया है। जालसाज के झांसे में आई महिला ने अपनी पूरी डिटेल बता दी। इसके बाद जालसाज ने बातों में उलझाकर पैकेज की रकम अधिक कराने और जल्दी पैकेज दिलवाने का झांसा दिया और कुछ चार्जेस के नाम पर 21 हजार से अधिक की रकम पीडि़ता से एक खाते में ट्रांसफर करा ली।

इधर श्यामला हिल्स थाने के मुबारिक हाउस में किराये से रहने वाली नीलम राठौर पति राजेश रठौर (27) को एक जालसाज ने फोन किया और यूपीआईडी की डिटेल ली और महिला के खाते से 82 हजार से अधिक की राशि का ट्रांजेक्शन कर लिया। फरियादिया ने सायबर सेल में शिकायत की थी। सायबर पुलिस ने जांच के बाद जीरो पर धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर जांच के लिए थाना पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस ने असल कायम कर पड़ताल शुरू कर दी है। पीडि़ता का अभी थाना पुलिस से संपर्क नहीं हुआ है, लिहाजा जालसाज ने किस प्रकार से ठगी की है, इसकी पूरी जानकारी नहीं मिल सकी है।

Previous articleफकीरी में अमीरी का जीवन जीते रहे ‘अमीरचंद’
Next articleमैजिक के रौंदने से सिक्यूरिटी गार्ड की मौत, संदिग्ध परिस्थिति में मृत मिला कारपेंटर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here