Home खास ख़बरें दोपहर 2:30 बजे दिल्ली पहुंचेंगे मुख्यमंत्री, पार्टी अध्यक्ष नड्डा और सॉलिसिटर जनरल...

दोपहर 2:30 बजे दिल्ली पहुंचेंगे मुख्यमंत्री, पार्टी अध्यक्ष नड्डा और सॉलिसिटर जनरल से करेंगे मुलाकात

22
0

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और अन्य मंत्रियों से मुलाकात भी होगी
भोपाल। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नई दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। वे दोपहर करीब 2:30 बजे दिल्ली पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे। इसके बोद मुख्यमंत्री की केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और नवीन एवं नवकरीणय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह से भी मुलाकात करेंगे। मुख्यमंत्री की केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल से भी मिलने का कार्यक्रम है। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान पार्टी अधक्ष श्री नड्डा को प्रदेश में 7 अक्टूबर तक चलने वाले सुराज अभियान की जानकारी देंगे। एक महीने के अंदर मुख्यमंत्री श्री चौहान की पार्टी अध्यक्ष से ये दूसरी मुलाकात है। माना जा रहा है कि कुछ संगठनात्मक चर्चाएं भी हो सकती हैं। नई दिल्ली रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राजधानी के मिंटो हॉल में आयोजित समारोह को भी संबोधित किया है।


मप्र के विकास पर करेंगे चर्चा
मुख्यमंत्री श्री चौहान केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और केंद्रीय बिजली व नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह से मध्य प्रदेश के विभिन्न विकास परियोजनाओं के संबंध में चर्चा करेंगे। ज्ञात हो कि गडकरी ने 16 सितंबर को इंदौर में 9577 करोड़ रुपए लागत की 1356 किलोमीटर लंबी 34 सड़क प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण व शिलान्यास किया था। इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश के प्रोजेक्ट्स के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की घोषणा की थी। उन्होंने बुधनी से जुड़े तीन नेशनल हाई वे को मंजूरी किए थे।

ओबीसी आरक्षण को लेकर भी सक्रिय

इधर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को प्रदेश में 27 प्रतिशत आरक्षण देने को लेकर भी सक्रिय हैं। 20 सितंबर को जबलपुर उच्च न्यायालय में हुई सुनवाई में प्रदेश सरकार की ओर से देश के सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पैरवी की थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शाम सॉलिसिटर जनरल के साथ बैठक करेंगे। बताया जाता है कि 30 सितंबर को जबलपुर उच्च न्यायालय में इस मामले की होने वाली सुनवाई में सरकार का पक्ष और मजबूती से रखने के संबंध में विचार करेंगे।

Previous articleपाक के अडिय़ल रुख की वजह से नहीं हो सकी सार्क की बैठक, अफगानिस्तान के तालिबानी नेता को बैठक में शामिल कराना चाहता था पाक
Next articleकेंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार ग्वालियर पहुंचे सिंधिया, रैली में ऐतिहासिक स्वागत, बोले- विकास के लिए हम सब मिलकर करेंगे काम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here