भोपाल में महापौर पद के 8 उम्मीदवार मैदान में, मुख्य मुकाबला भाजपा व कांग्रेस के मध्य

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

भोपाल में आप पार्टी खड़ा नहीं कर पाई महापौर उम्मीदवार

भोपाल। भोपाल में बुधवार दोपहर तीन बजे नामांमन पत्र वापसी के बाद महापौर पद के उम्मीदवारों की स्थिति स्पष्ट हो गई है। अब भोपाल में महापौर पर के आठ उम्मीदवार बचे हैं, मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांगे्रस के बीच है। कांगे्रस की तरफ से विभा पटेल और भाजपा ने मालती राय उम्मीदवार हैं। बुधवार को दो उम्मीदवारों ने नामांकन वापस लिए है, जबकि आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार रानी विश्वकर्मा ने पहले ही नामांकन वापस ले लिया था। कांग्रेस की बागी रईसा मलिक ने आम आदमी पार्टी से नामांकन दाखिल किया था, लेकिन आखिरी वक्त में उन्होंने बी फार्म जमा नहीं किया, जिससे उनका नामांकन निर्दलीय हो गया है। अब वह चुनाव चिन्ह नल पर चुनाव लड़ेंगी। जिससे आम आदमी पार्टी भोपाल से महापौर का उम्मीदवार खड़ा नहीं कर पाई है।


नाम वापसी के बाद उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट जारी कर दी गई है। जिसमें भाजपा मालती राय कमल का फूल, कांग्रेस विभा पटेल हाथ का पंजा, बहुजन समाज पार्टी प्रिया यदुवंशी मकवाना हाथी, जनता दल यूनाइटेड मंजू यादव तीर, जयलोक पार्टी संगीता प्रजापति प्रेशर कुकर, निर्दलीय लेखा अंगूठी, रईसा बेगम मलिक नल और निर्दलीय उम्मीदवार सीमा नाथ को चुनाव चिन्ह रेडियो आवंटित किया गया है।
इन्होंने वापस लिए नाम

ये भी पढ़ें:  पारिवारिक विवाद के चलते महिला ने अपनी तीन बेटियों के साथ कुँए में कूदकर दे दी जान

मंजू दायमा, ज्योति मंडलिक और रानी विश्वकर्मा ने नाम वापस ले लिया है। इधर स्क्रूटनी वाले दिन जाति प्रमाण पत्र पेश नहीं करने पर आम भारतीय पार्टी से नामांकन दाखिल करने वाली फरहीन खान का नामांकन रिजेक्ट कर दिया गया था।

नेताओं में झूमा-झटकी, धरने पर बैठे ससुर-बहू

भोपाल नगर निगम के पार्षद पद के नाम वापसी के दौरान बुधवार दोपहर कलेक्ट्रेट कार्यालय में जमकर हंगामा व झूमाझटकी हो गई। रूठों को मनाने के लिए भोपाल दक्षिण-पश्चिम से कांगे्रस विधायक पीसी शर्मा मौके पर पहुंचे थे। वार्ड 41 से कांगे्रस पार्टी ने पहले शेख सलीम को टिकट दिया था, बाद में मंगलवार को शेख सलीम का टिकट काटकर पूर्व पार्षद मोहम्मद सगीर को कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार बना दिया है। शेख सलीम और उनकी बहू शेख नाजिया नामांकन पत्र वापस लेने पहुंचे थे। दोनों का आरोप था कि उन पर नामांकन-पत्र वापस लेने के लिए काफी दबाव बनाया गया है। दोनों कलेक्ट्रेरेट में धरने पर बैठ गए हैं।

ये भी पढ़ें:  भूस्खलन से मणिपुर में धंसा सेना का कैंप, दो की मौत और कई जवान मलबे में दबे

नाराज सलीम ने पूर्व महापौर सुनील सूद पर जान से खतरा होने का डर बताया और पुलिस से सुरक्षा मांगी। करीब आधे घंटे तक पॉलिटिकल ड्रामा चला। नामांकन वापस लेकर वापस लौटते समय उनकी मो. फहीम से तीखी नोंकझोंक हो गई। दरअसल, सलीम पूर्व महापौर सूद के बारे में कुछ कह रहे थे, जो समर्थक मो. फहीम को नगवार गुजरी। इस बात पर दोनों एक-दूसरे से भिड़ गए। बात गाली-गलौच और झूमाझटकी तक पहुंच गई।

विधायक के सामने मार दिया थप्पड़

सलीम का तर्क था कि उन्हें टिकट दिया जाना था, लेकिन टिकट दूसरे को दे दिया गया, जबकि उन्होंने पहले ही फॉर्म भर दिया था। अब पूर्व महापौर सूद के दबाव में उन्होंने फॉर्म वापस लिया है। सलीम का आरोप है कि बड़े नेताओं से उन्हें जान का खतरा है, इसलिए पुलिस सुरक्षा दी जाए। करीब आधे घंटे के बाद मो. सलीम और उनकी बहू कोहेफिजा पुलिस के साथ वापस लौटे। वहीं कांग्रेस के एक बागी प्रत्याशी को मनाने के लिए विधायक पीसी शर्मा खुद कलेक्टोरेट पहुंच गए। ढाई बजे शर्मा पहुंचे और वे बागी को मनाने पहुंचे। इस दौरान उनके समर्थक ने एक युवक को थप्पड़ मार दिया। इससे गहमागहमी का माहौल बन गया।

ये भी पढ़ें:  कंपनी कमांडर की बेटी देर रात चला रही थी मोबाइल, मां ने डांटा तो खा लिया जहर

8 candidates are in fray for the post of mayor in Bhopal, the main contest is between BJP and Congress.

bhopaal mein mahaapaur pad ke 8 ummeedavaar maidaan mein, mukhy mukaabala bhaajapa va kaangres ke madhy.

Swadesh.in News Portal Bhopal, Bhopal News, MP News, MP Breaking News, Swadesh Bhopal, Swadesh News Paper Bhopal, Swadesh in , CM Shivraj Singh chouhan, Dr Narottam Mishra , Bhopal Breaking News, Swadesh TV , Swadesh News, Swadesh.in

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News