Home खास ख़बरें पहाड़ों में हो रही बर्फबारी, देश के इन हिस्सों में गरज के...

पहाड़ों में हो रही बर्फबारी, देश के इन हिस्सों में गरज के साथ भारी बारिश की है संभावना, जारी हुआ अलर्ट

32
0

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में पिछले दिनों भारी बारिश हुई। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के चलते जानमाल का काफी नुकसान हुआ है। देश के कई राज्यों में एक बार फिर मौसम के बदलने की संभावना जताई जा रही है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने पश्चिमी राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है। इस दौरान मैदानी क्षेत्रों में गरज के साथ भारी बारिश और पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी से तैयार रहने की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग द्वारा जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश या हिमपात की संभावना जताई गई थी। इसके बाद शनिवार को कश्मीर के ऊपरी पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी देखेन को मिली। हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भी बर्फबारी हो रही है।

शनिवार रात और रविवार सुबह दिल्ली में हो सकती है हल्की बूंदाबांदी

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामणि कहा कि शनिवार को दिल्ली में बादल छाए रहेंगे। दिल्ली में शनिवार की रात और रविवार की सुबह हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। पंजाब में अच्छी बारिश होगी, उत्तराखंड और अन्य क्षेत्रों में बारिश की संभावना बनी हुई है।

केरल और तमिलनाडु में भी बारिश का है अनुमान

दक्षिण भारत में शनिवार की सुबह केरल तट से दूर के क्षेत्रों में एक चक्रवाती परिसंचरण देखा गया। यह परिसंचरण दक्षिण दक्षिण भारत के आसपास बना रह सकता है। इस दौरान दक्षिण भारत के अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ भारी बारिश होने की संभावना है। सोमवार और मंगलवार को तमिलनाडु के छिटपुट स्थानों पर बारिश का अनुमान है। केरल में भी सोमवार को भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया गया है।
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों उत्तराखंड में हुई जोरदार बारिश से जनजीवन काफी प्रभावित हुआ था। बारिश होने से केदारनाथ यात्रा धीमी पड़ने का अंदेशा जताया जा रहा था, लेकिन मौसम खुलने के बाद यात्रा पर बारिश का कोई असर नहीं पड़ा है।

Previous articleआइसीसी टी20 विश्व कप : दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी फ्लॉप
Next article‘हबीबगंज स्टेशन’ पर एयरपोर्ट जैसा एहसास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here