Home खास ख़बरें घाटी में निर्दोषों की हत्या के पीछे टीआरएफ का आका बासित अहमद...

घाटी में निर्दोषों की हत्या के पीछे टीआरएफ का आका बासित अहमद डार, आतंकी हुआ बेनकाब

20
0

श्रीनगर। घाटी के सुरक्षा अधिकारियों ने पिछले हप्ते निर्दोष नागरिकों की हत्या करने वाले आंतकियों की पहचान हो गई है। अधिकारियों का कहना है कि हमलावरों में 25 साल का बासित अहमद डार शामिल है। वो दक्षिण कश्मीर के कुलगाम का रहने वाला है। डार कई बार सुरक्षा एजेंसियों के रडार में आ चुका है, वह प्रतिबंधित संगठन द रेसिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के प्रमुख अब्बास शेख के साथ काम करता है। वह टीआरएफ का चीफ है। टीआरएफ लश्कर-ए-तैयबा का एक सहयोगी आतंकवादी संगठन है।

सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार बासित अहमद डार ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर घाटी के नागरिकों की हत्या की। इस हत्या में कश्मीरी पंडित व्यवसायी माखन लाल बिंदरू, स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चंद शामिल हैं। अधिकारियों ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों ने सभी स्थानों से सीसीटीवी फुटेज एकत्र कर लिए हैं।

ऐसा कहा जाता है कि घाटी में आतंकवाद के सबसे पुराने चेहरों में से एक अब्बास शेख की मौत के बाद बासित अहमद डार ने ही टीआरएफ का नेतृत्व संभाला है। कुलगाम के रामपुर गांव का रहने वाला शेख 90 के दशक के मध्य में प्रतिबंधित हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी समूह में शामिल हो गया था। इस दौरान वह दो बार गिरफ्तार भी हुआ।

पहली बार 2004 में सुरक्षाबलों ने उसे गिरफ्तार किया था लेकिन एक साल बाद वह जेल से बाहर आ गया। 2017 में वो फिर गिरफ्तार हुआ। इस बार उसे चार साल जेल हुई। अपनी रिहाई के बाद वह फिर सक्रिय हुआ, लेकिन घाटी के सुरक्षाबलों ने उसे एक मुठभेड़ में मार गिराया।

Previous articleइस्तीफा वापस लेंगे सिद्धू? 14 अक्टूबर को दिल्ली बुलाया गया; सीनियर नेताओं से मीटिंग
Next articleसादगी से विजयादशमी मनाएगा आरएसएस; मोहन भागवत देंगे अहम भाषण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here