Home खास ख़बरें कांग्रेस शासित राज्यों में वैक्सीन लगाने से इनकार करने पर हुई सबसे...

कांग्रेस शासित राज्यों में वैक्सीन लगाने से इनकार करने पर हुई सबसे ज्यादा मौतें

15
0
  • कांग्रेस के श्वेत पत्र पर भाजपा का पलटवार, पात्रा के निशाने पर आए राहुल

नई दिल्ली ब्यूरो

कोरोना वायरस महामारी की चाल मंद पडऩी शुरू हो गई है। पर इसको लेकर हो रही राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना पर एक श्वेत पत्र जारी कर इस राजनीति को और हवा देने का काम कर दिया। राहुल की राजनीति पर भाजपा ने जबर्दस्त पलटवार किया। भाजपा ने राहुल को कांग्रेस शासित राज्यों का हाल बयां कर आइना दिखाया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि भारत आगे बढ़ता है तो कांग्रेस को चिड़ होती है। योग दिवस के मौके पर वैक्सीनशन का इतिहास बना। कांग्रेस को यह हजम नहीं हुई। कोरोना के खिलाफ लड़ाई को राहुल गांधी हमेशा भटकाने में लगे रहे। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर कांग्रेस शासित राज्यों से शुरू हुई, सबसे ज्यादा मौतें कांग्रेस शासित राज्यों में हुईं।

इतना ही नहीं कांग्रेस शासित प्रदेशों ने वैक्सीन लगाने से इनकार किया और इसकी वजह से इन राज्यों में मृत्यु दर सबसे ज्यादा रही। उन्होंने राहुल गांधी को सलाह भी दी। संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस शासित राज्य में जाकर देखना चाहिए। कांग्रेस शासित राज्यों में टीकाकारण को लेकर भ्रष्टाचार चरम पर है। संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह पूरी तरह से कंफ्यूज है। राहुल गांधी और कांग्रेस की सर्कस के साथ तुलना करना गलत नहीं होगा। उन्होंने पूछा कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी और उनके पति ने टीका लिया कि नहीं, जनता को यह जरूर बताएं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपनी बारी आने पर टीका लिया और फोटो भी जारी किया।

राहुल ने जारी किया श्वेत पत्र

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को दिखाते हुए राहुल गांधी ने एक श्वेत पत्र जारी किया है। इसमें उन्होंने सरकार को कुछ सुझाव दिए हैं। कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को चार सुझाव दिए हैं। पहला- बेड और ऑक्सीजन की सप्लाई जल्द से जल्द बढ़ाई जाए, दूसरा- वैक्सीनेशन का लक्ष्य जल्द पूरा किया जाए, तीसरा- कोरोना से मौत पर मुआवजे के लिए फंड बनाया जाए और चौथा- कोरोना के खिलाफ सभी राज्यों को समान मदद मिले। साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि श्वेत पत्र लाने का उद्देश्य सरकार पर उंगली उठाना नहीं, बल्कि कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए मदद करना है।

Previous articleभारतीय योग के कायल हुए अमेरिकी: अमेरिका में 3.70 करोड़ लोगों ने किया योग, विदेश विभाग ने कहा- योग शब्द संस्कृत से लिया गया
Next articleधर्मांतरण पर रोक के लिए केंद्र सरकार बनाए सख्त कानून : विहिप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here