कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए गहलोत का नाम सबसे आगे, राहुल हुए बाहर

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

स्वदेश डेस्क (विशाखा धारे) –  कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर गरमा-गरमी का माहौल हैं। इसी बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम अध्यक्ष के लिए सबसे आगे चल रहा हैं । इस दौरान वह सोनिया गांधी से मिलने दस जनपथ पहुंचे । मुख्यमंत्री पहले दिल्ली में सोनिया गांधी से अध्यक्ष के चुनाव को लेकर चर्चा करेंगे। इसके बाद वे केरल के कोच्चि जाएंगे, वहां राहुल गांधी से मुलाकात कर पूरे मामले में चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं एक बार और प्रयास कर रहा हूं राहुल गांधी को अध्यक्ष पद के लिए मनाने का। इससे पहले जयपुर में मंगलवार रात कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गहलोत ने अध्यक्ष पद पर नामांकन भरने के साफ संकेत दिए थे। विधायकों को गहलोत ने उनके नामांकन करने पर दिल्ली आने तक के लिए भी कहा।

ये भी पढ़ें:  महीने की शुरूआत में हुए 6 बड़े बदलाव, सस्ता हुआ कॉमर्शियल गैस सिलेंडर

इसी बीच पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने बुधवार को कहा- राहुल गांधी नामांकन के दौरान भारत जोड़ो यात्रा पर रहेंगे और वे दिल्ली नहीं जाएंगे। रमेश के इस बयान के बाद यह तय हो गया है कि राहुल पार्टी के अध्यक्ष पद की कमान नहीं संभालेंगे। वहीं, सांसद शशि थरूर सुबह कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी से मुलाकात की। पार्टी के दोनों वरिष्ठ नेता अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं।

गहलोत ने कहा – समय बताएगा कि मैं कहा रहूंगा, कहां नहीं रहूंगा

आप कांग्रेस अध्यक्ष बनेंगे? अशोक गहलोत बोले- राजस्थान छोड़कर कही नहीं जा  रहा - ashok gehlot rajasthan cm congress president rahul gandhi ntc - AajTak

दिल्ली पहुंचकर बातचीत के दौरान गहलोत ने कहा, ‘अगर पार्टी के लोग मुझे चाहते हैं, उन्हें लगता है कि अध्यक्ष पद या सीएम पद पर मेरी जरूरत है तो मैं मना नहीं कर सकता। हमारे लिए पद कोई मायने नहीं रखता। उन्होंने कहा कि एक पद, एक व्यक्ति का नियम केवल नॉमिनेटेड पोस्ट के लिए है। चुनाव लड़कर कोई भी दो पोस्ट पर रह सकता है। समय बताएगा कि मैं कहा रहूंगा, कहां नहीं रहूंगा। एक पद, एक व्यक्ति फॉर्मूला पर उन्होंने कहा कि मेरी इच्छा तो ये है कि मैं किसी पद पर न रहूं, क्योंकि मैं बहुत पद पर रह चुका हूं। मेरे उपस्थिति से पार्टी को फायदा होना चाहिए, कांग्रेस मजबूत होनी चाहिए, मैं यह चाहता हूं। पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News