एटीएम मशीन तोड़ने के मामले में बैंक ने FIR से किया इंकार

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on pinterest
Pinterest
Share on pocket
Pocket
Share on whatsapp
WhatsApp

अब पुलिस अपने स्तर पर करेगी मामले की जांच

भोपाल। तुलसी नगर स्थित इंडसाइंड बैंक की एटीएम मशीन तोड़कर चोरी के प्रयास के मामले में बैंक प्रबंधन ने एफआईआर दर्ज कराने से इनकार कर दिया है। बैंक प्रबंधन का तर्क है कि एटीएम मशीन में कैश नहीं था और न ही वह वर्किंग कंडीशन में था। लेकिन इलाके में हुई वारदात के मामले में पुलिस अपने स्तर पर जांच कर आरोपियों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने वारदात के बाद से ही पुलिस की एक टीम आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

एसीपी टीटी नगर चंद्रशेखर पांडे ने बताया कि सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात सेकेंड स्टाप तुलसी नगर स्थित इंडसाइंड बैंक के एटीएम मशीन को अज्ञात बदमाशों ने तोड़ने का प्रयास किया था। चोरी के इरादे से बदमाशों ने मशीन के फ्रंट डोर तोड़ दिया था, लेकिन सेफ डोर को तोड़ नहीं पाए थे। वारदात का पता चलने के तुरंत बाद बैंक प्रबंधन से संपर्क किया गया था।

ये भी पढ़ें:  'हर संभव मदद के लिए तैयार, तुर्किए के लोगों के साथ खड़े हैं हम', भूकंप से तबाही पर बोले पीएम मोदी

लेकिन बैंक प्रबंधन का तर्क था कि एटीएम मशीन में कैश नहीं था और मशीन वर्किंग कंडीशन में नहीं थी। इसलिए इस मामले में एफआईआर नहीं कराना चाहते हैं। इस कारण एटीएम तोड़कर चोरी के प्रयास की वारदात में एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।

पुलिस टीम सुराग जुटा रही

एसीपी पांडे ने बताया कि बदमाशों ने जिस तरीके से वारदात को अंजाम दिया है। उसे देखकर इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि बदमाश आगे भी ऐसी वारदात को अंजाम नहीं देंगे। इसलिए पुलिस की एक टीम मामले की गंभीरता को देखते हुए अज्ञात आरोपियों की तलाश में जुट गई है। पुलिस तुलसी नगर और आसपास के इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है।

ये भी पढ़ें:  जल्द इंदौर में दौड़ती नज़र आएगी मेट्रो, अगस्त में शुरू होगा ट्रायल

जल्द ही पुलिस मामले का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार करेगी। जिससे आने वाले समय में ऐसी वारदातों पर अंकुश लगाया जा सके।

Bank denied FIR in case of breaking ATM machine.

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Reply

Recent News

Related News