Home उत्तर प्रदेश मेरठ: ऑक्सीजन के लिए मची लूट, स्ट्रेचर पर ही मरीज करा रहे...

मेरठ: ऑक्सीजन के लिए मची लूट, स्ट्रेचर पर ही मरीज करा रहे हैं इलाज

83
0

मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में मरीजों की लाचारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन की लूट मची है.

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बेकाबू हो चुकी है और ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग बेबस नजर आ रहे हैं. ऑक्सीजन के लिए तड़पते अपने मरीज को बचाने के लिए कई कोई अफसरों की गाड़ी के आगे लेट जा रहा है, तो कोई एंबुलेंस को बीच रास्ते से ही अगवा कर ले रहा है. एक ऐसा ही नजारा मेरठ में देखने को मिला, जहां सिलेंडर की गाड़ी में लूट मच गई. 

दरअसल, मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में मरीजों की लाचारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन की लूट मची है. वहीं ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे मरीजों के तीमारदार डॉक्टरों के पैर छूते नजर आए.

उम्र दराज लोग एक ऑक्सीजन के सिलेंडर के लिए डॉक्टरों के हाथ जोड़ते और पैर छूते नजर आ रहे. मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में गुरुवार देर शाम ऑक्सीजन लेवल कम हो गया, जिसके बाद मरीजों की सांसें उखड़ने लगी.

आनन-फानन में ऑक्सीजन का इंतजाम किया गया, लेकिन इस दौरान जो तस्वीरें सामने आई वह वाकई दिल दहला देने वाली हैं. जब मेडिकल कॉलेज ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचे तो वहां लोग सिलेंडर को लेकर इधर-उधर भागने लगे.

ऑक्सीजन के साथ ही मेरठ के मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में बेड की भी कमी है. हालात यह हैं कि मरीजों को लाने-ले जाने के लिए जो स्ट्रेचर इस्तेमाल किए जाते हैं, उन पर मरीज हैं और लोग अपने मरीजों को गोद में उठाकर ही इमरजेंसी वार्ड पहुंच रहे हैं.

ऑक्सीजन को लेकर मरीजों और तीमारदारों में दहशत का माहौल है. रहे हैं. ऑक्सीजन को लेकर मरीजों और तीमारदारों में दहशत का माहौल है. दम तोड़ ना दे. इसलिए ऐसे हालात बन रहे हैं की सिलेंडर की गाड़ी पहुंचते ही उस पर लोग टूट पड़े. इस मामले में मेडिकल कॉलेज के अफसरों की अपनी ही दलील है. 

Previous articleजायडस की Virafin को DCGI की मंजूरी, कोरोना से लड़ने में मिलेगी मदद
Next articleदो दिन से रेमडेसिविर नहीं, मरीज को लगाना तो दूर दर्शन को भी नहीं मिल रहे इंजेक्शन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here