Home महाराष्ट्र महाराष्ट्र में कोरोना बेलगाम, 24 घंटे में 63,729 नए केस, 398 लोगों...

महाराष्ट्र में कोरोना बेलगाम, 24 घंटे में 63,729 नए केस, 398 लोगों ने तोड़ा दम

25
0

महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार बेलगाम होती जा रही है. यहां बीते 24 घंटे में 63,729 नए केस सामने आए और 398 लोगों की मौत हो गई. महाराष्ट्र में कोरोना से अब तक 59,551 लोगों की जान जा चुकी है. 

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने सरकारी सिस्टम को फेल कर दिया है. 24 घंटे में सामने आने वाले नए मरीजों के आंकड़े में जबरदस्त उछाल आया है. नए संक्रमितों की संख्या 2 लाख के पार पहुंच गयी है, जबकि 1 हज़ार 38 लोगों ने संक्रमण की वजह से अपनी जान गंवाई है.

देश में फिलहाल 14 लाख 71 हजार 877 कोरोना एक्टिव केस हैं. महाराष्ट्र, दिल्ली और यूपी में कोरोना सबसे ज्यादा कहर बरपा रहा है. महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगाने की हर कोशिश नाकाम हो रही है. यहां कोरोना की रफ्तार बेलगाम होती जा रही है.

महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में 63,729 नए केस सामने आए और 398 लोगों की मौत हो गई. महाराष्ट्र में कोरोना से अब तक 59,551 लोगों की जान जा चुकी है. 

महाराष्ट्र में कुल केस: 37,03,584 

कुल रिकवरी: 30,04,391

कुल मौतें: 59,551

कुल एक्टिव केस: 6,38,034 

Mumbai Corona Live Update

महाराष्ट्र में कोरोना के खतरे को देखते हुए डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा कि हमने योजना बनाई है कि अस्पताल में बेड की संख्या को कैसे बढ़ाया जाए. हमने ऑक्सीजन सप्लाई के लिए भी निर्णय लिया है और योजना बनाई है.

हम रायगढ़ में एक ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र खोलेंगे. पवार ने कहा कि वेंटिलेटर्स की अतिरिक्त आवश्यकता के बारे में जावड़ेकर जी के साथ बात करने जा रहा हूं. रेजिडेंट डॉक्टरों के विरोध और आंदोलन के बारे में बोलते हुए डिप्टी सीएम ने युवा डॉक्टरों से आग्रह किया

कि वे अपनी मांग को लेकर आंदोलन को बंद कर दें, क्योंकि राज्य मुश्किल समय से गुजर रहा है. उधर, मुंबई में बेड की कमी को देखते हुए बीएमसी बेड बढ़ाने में लगी है. अब हल्के लक्षणों वाले कोरोना मरीजों के इलाज के लिए लक्जरी होटल का इस्तेमाल किया जाएगा. ताकि अस्पताल गंभीर मरीजों के लिए उपलब्ध हो सके. 

जसलोक को बनाया गया कोविड हॉस्पिटल

कोरोना मरीजों के लिए बेड की कमी पूरी करने के लिए बीएमसी ने जसलोक अस्पताल को कोविड अस्पताल में बदल दिया है. यहां अब सिर्फ कोरोना मरीजों का इलाज होगा. जसलोक के नॉन कोविड मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया जा रहा है. जसलोक में ढाई सौ बेड और बढ़ाए जा रहे हैं.  

महाराष्ट्र में भी ऑक्सीजन की कमी

सीएम उद्धव ठाकरे ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अंदेशा जताया है कि 30 अप्रैल तक महाराष्ट्र में कोरोना के एक्टिव केस 11.9 लाख हो जाएंगे और ऑक्सीजन की डिमांड 200 मीट्रिक टन बढ़ जाएगी. फिलहाल महाराष्ट्र में 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है, जबकि इस समय डिमांड 1300 से 1500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की है. 

ऑक्सीजन के साथ वेंटिलेटर और बेड की कमी 

महाराष्ट्र में रेमेडेसिविर, ऑक्सीजन और बेड इन तीनों की भारी कमी हो चुकी है. अस्पताल में बेड नहीं मिलने की वजह से मरीज, एंबुलेंस में, घरों में दम तोड़ रहे हैं.नागपुर में एक हफ्ते से एक वेंटीलेटर बेड खाली नहीं है.

चंद्रपुर में भी वेंटीलेटर, आईसीयू ,ऑक्सीजन यहां तक कि सामान्य बेड तक उपलब्ध नहीं है. ऑक्सीजन यहां तक कि सामान्य बेड तक उपलब्ध नहीं है. वहीं, महाराष्ट्र में कोरोनोवायरस की स्थिति को भयावह बताते हुए,

हाई कोर्ट ने 7 मई तक सुनवाई के लिए केवल जरूरी मामलों को लेने का फैसला किया है. बॉम्बे हाई कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि उसके द्वारा पारित किए गए सभी अंतरिम आदेश नागपुर, औरंगाबाद और गोवा और महाराष्ट्र के अधीनस्थ न्यायालयों में 19 अप्रैल तक मान्य हैं, जो कोरोना मामलों में वृद्धि के कारण 7 मई तक बिना शर्त लागू रहेंगे. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here