Home झारखंड झारखंड: दुमका में गैंगरेप के नाबालिग आरोपी ने फांसी लगाकर दी जान

झारखंड: दुमका में गैंगरेप के नाबालिग आरोपी ने फांसी लगाकर दी जान

89
0

पुलिस आत्महत्या का कारण जानने का प्रयास कर रही है. पुलिस के मुताबिक पाकुड़ में एक सप्ताह पहले एक युवती के साथ हुई गैंगरेप की वारदात में 15 साल के आरोपी को गिरफ्तार कर दुमका बाल सुधार गृह भेजा गया था.

झारखंड के पाकुड़ में 16 अप्रैल को गैंगरेप के मामले में गिरफ्तार 15 साल के आरोपी ने बाल सुधार गृह में फांसी लगाकर जान दे दी. दुमका के हिजला रोड स्थित बाल सुधार गृह में फांसी लगाकर गैंगरेप के मामले में आरोपी ने आत्महत्या कर ली. दुमका आने के बाद उसे क्वारनटीन कर दूसरे बाल बंदी से अलग एक कमरे में अकेले रखा गया था. उसने नेकर और चादर से फंदा बनाकर मौत को गले लगा लिया. 

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दो डाक्टरों की टीम ने पोस्टमॉर्टम करने के बाद शव उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया. बाल सुधार गृह के प्रभारी बाबर के बयान पर मुफस्सिल थाने मे यूडी केस दर्ज किया गया है. पुलिस आत्महत्या का कारण जानने का प्रयास कर रही है. पुलिस के मुताबिक पाकुड़ में एक सप्ताह पहले एक युवती के साथ हुई गैंगरेप की वारदात में आरोपी 15 साल के आरोपी को गिरफ्तार कर दुमका बाल सुधार गृह भेजा गया था. पीड़िता के साथ ही गैंगरेप के कई आरोपियों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. 

आरोपी को 17 अप्रैल के दिन दुमका भेजने के बाद दूसरे बाल बंदियों से अलग एक कमरे में अकेले क्वारनटीन कर दिया गया था. रात में दो गार्ड की डयूटी रहती थी. शाम होने पर कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया जाता था. गुरुवार की सुबह गार्ड ने कमरे का दरवाजा खोला तो आरोपित फांसी के फंदे से लटक रहा था. फांसी लगाने से पहले वह बाल्टी पर खड़ा हुआ और गले में फंदा डालने के बाद बाल्टी को गिरा दिया.

बाल बंदी के आत्महत्या करने की खबर सुनने के बाद समाज कल्याण अधिकारी अनिता कुजूर पहुंचीं और डॉक्टर दिलीप केसरी को बुलाकर जांच कराई. डॉक्टर ने बाल बंदी को मृत घोषित कर दिया. दोपहर को दंडाधिकारी आसिफ अली और डीएसपी विजय कुमार मौके पर पहुंचे और शव का पंचनामा तैयार कराया. सूचना मिलने पर मृतक के परिजन भी आए लेकिन वे कुछ बोलने से बचते रहे. उनका कहना था कि बेटे ने ऐसा क्यों किया, यह वे कैसे बता सकते हैं. बेटा तो उनसे दूर था. दोपहर बाद मेडिकल कालेज में शव का पोस्टमार्टम कराया गया.

मौत के कारण की होगी जांच

दुमका के डीएसपी विजय कुमार ने कहा कि बाल बंदी क्वारनटीन था. अकेले कमरे में उसने फांसी लगाकर जान दे दी. आत्महत्या का कारण पता करने का प्रयास किया जा रहा है. लापरवाही हुई है या नहीं, इसकी भी जांच की जा रही है. पुलिस हर स्तर से छानबीन कर रही है. यूडी केस दर्ज किया गया है.

Previous articleजींद: चोर ने डोज लौटाते हुए लिखा माफीनामा- सॉरी, मुझे नहीं पता था यह कोरोना वैक्सीन है
Next articlePM Kisan Samman Nidhi: 5 एकड़ जमीन वाले किसानों को सरकार देती है 6000 रुपये? जानिए कैसे कर सकते हैं अप्लाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here