Home » 50,000 भारतीय वी-केवाईसी सक्षम डिजिटल अनुभव के साथ एसएमई टाइड से जुड़े, दिसंबर 2024 तक 10 लाख एसएमई को शामिल करने का लक्ष्य

50,000 भारतीय वी-केवाईसी सक्षम डिजिटल अनुभव के साथ एसएमई टाइड से जुड़े, दिसंबर 2024 तक 10 लाख एसएमई को शामिल करने का लक्ष्य

  • यूके फिनटेक का उद्देश्य अधिकतम एसएमई को औपचारिक अर्थव्यवस्था में शामिल करना और क्रेडिट एक्सेस में सुधार करना है।
  • पूर्ण केवाईसी वेरिफिकेशन के साथ 50,000 रुपे-संचालित टाइड एक्सपेंस कार्ड्स जारी किए गए ।
  • जेन जेड, मिलेनियल्स, छोटी दुकानें, सोलोप्रेन्योर्स और फाइनेंशियल सर्विसेस प्रोफेशनल्स तेजी से प्लेटफॉर्म की ओर रुख कर रहे हैं ।
  • ग्राहकों को संतुष्ट करने के उद्देश्य के तहत ‘वी आर लिसनिंग’ कैंपेन की शुरुआत ~
    नई दिल्ली ।
    दिसंबर 2022 में भारत में प्रवेश के बाद से लेकर अब तक ब्रिटेन का प्रमुख एसएमई-केंद्रित बिज़नेस फाइनेंशियल प्लेटफॉर्म, टाइड 50,000 एसएमई को शामिल कर चुका है। भारत में अपनी बाजार रणनीति की स्वीकृति के दृष्टिकोण के साथ, टाइड ने अपने प्लेटफॉर्म पर सभी सदस्य एसएमई (ग्राहकों) को एक वीडियो नो योर कस्टमर (वी-केवाईसी) की पेशकश के बाद रुपे (RuPay) कार्ड्स जारी किए हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक के अनिवार्य कंप्लायंस न सिर्फ अनधिकृत यूज़र्स को, बल्कि गैर-इरादतन लोगों को भी प्लेटफॉर्म को एक्सेस करने और इसका लाभ लेने से रोकेंगे। यह प्रक्रिया औपचारिक अर्थव्यवस्था में एसएमई को शामिल करने का समर्थन करती है, डिजिटल इंडिया पहलों को सुदृढ़ करती है, और कम सेवा वाले क्षेत्रों के लिए क्रेडिट एक्सेस को बढ़ावा देती है। टाइड ने अपने मेंबर्स के लिए 50,000 फुली केवाईसी रुपे कार्ड्स भी जारी किए हैं। टाइड ने ‘वी आर लिसनिंग’ नामक एक नया टू-वे कम्युनिकेशन कैंपेन भी लॉन्च किया है, जो मेंबर्स को अपनी राय रखने, चिंताओं को व्यक्त करने, प्रतिक्रिया साझा करने और उचित समय पर ब्रांड निर्णयों को प्रेरित करने का अवसर प्रदान करेगा। टाइड के इस प्लेटफॉर्म को भारत में तेजी से स्वीकृति मिल रही है। ऐसे में, भारत में बाजार की क्षमता को देखते हुए कंपनी को विश्वास है कि वर्ष 2024 के अंत तक 10 लाख एसएमई इसके प्लेटफॉर्म से जुड़ेंगे और इसके डिजिटल बिज़नेस बैंकिंग सूट का लाभ ले सकेंगे। लॉन्च के बाद से लेकर मार्च तक, टाइड गूगल प्ले स्टोर पर 2.25 लाख ऐप डाउनलोड्स का आँकड़ा पार कर चुका है। भारत में कंपनी के वर्तमान मेंबर्स की विशाल संख्या से स्पष्ट होता है कि जेन जेड और मिलेनियल्स, 40 से कम आयु वर्ग के 90% सदस्यों के साथ एक मजबूत उद्यमशीलता का प्रदर्शन करते हैं।

Swadesh Bhopal group of newspapers has its editions from Bhopal, Raipur, Bilaspur, Jabalpur and Sagar in madhya pradesh (India). Swadesh.in is news portal and web TV.

@2023 – All Right Reserved. Designed and Developed by Sortd