Home छत्तीसगढ़ एक युवक ने पारिवारिक जमीन विवाद में अपनी दादी और बहन पर...

एक युवक ने पारिवारिक जमीन विवाद में अपनी दादी और बहन पर हसिए से किया हमला, हालत गंभीर

26
0

छत्तीसगढ़, रायपुर के धमतरी में सोमवार देर शाम एक युवक ने पारिवारिक विवाद में अपनी दादी और बहन पर हसिए से हमला कर दिया। हमले में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। बहन की हालत गंभीर है उसे रायपुर रेफर कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि उसके पेट में अंदर तक हसिया लगा है। वारदात के बाद आरोपी युवक वहां से भाग निकला।

पुलिस ने उसे दोपहर में रायपुर के रास्ते से गिरफ्तार कर लिया है। मामला कोतवाली क्षेत्र थाना का है। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि आरोपी सुरूज थोड़ा सनकी मिजाज का और शराब पीने का आदी है। जरा सी बात कोई कह देता है तो भड़क जाता है।

जमीन को लेकर अक्सर अपने दादा-दादी से करता था विवाद

जानकारी के मुताबिक, लाल बगीचा निवासी सुरूज बाबर जमीन को लेकर अक्सर ही अपने दादा-दादी से विवाद करता था। इसकी जानकारी रायपुर में रहने वाली सुरूज की बहन सपना राजपूत (30) को लगी तो वह सोमवर को दादी कुलबाई बाबर (50) से मिलने के लिए धमतरी पहुंची। सब आपस में बैठकर मामले को सुलझाने को लेकर चर्चा कर रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान शराब के नशे में धुत होकर सुरूज पहुंचा और विवाद करने लगा।

विवाद बढ़ा तो सुरूज ने हसिए से दोनों पर हमला कर दिया
इसी दौरान उसने हसिया निकाल लिया और अपनी दादी व बहन पर वार कर दिया। हसिया लगते ही दोनों खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर पड़े। इसकी सूचना पुलिस को दी गई और दोनों घायलों को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

वहां सपना की हालत गंभीर होने पर रायपुर रेफर कर दिया गया है। हालांकि फरार हुए सुरूज का अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस उसकी तलाश में कई जगह छापा मार रही है।

परिजन बोले- सनकी मिजाज का, जरा-जरा सी बात पर भड़कता है
पुलिस पूछताछ में पता चला है कि आरोपी सुरूज थोड़ा सनकी मिजाज का और शराब पीने का आदी है। जरा सी बात कोई कह देता है तो भड़क जाता है। इसी के कारण वह अक्सर ही मारपीट और गाली-गलौज करता रहता है।

जमीन विवाद को लेकर बहन सपना उससे बात करने और समझाने के लिए ही धमतरी आई थी। सुरूज के माता-पिता वहीं पास में ही रहते हैं। जबकि दादा-दादी अकेले रहते थे। जमीन उनके ही दादा-दादी के नाम है, युवक इसी को लेकर

जमीन विवाद को लेकर बहन सपना उससे बात करने और समझाने के लिए ही धमतरी आई थी। सुरूज के माता-पिता वहीं पास में ही रहते हैं। जबकि दादा-दादी अकेले रहते थे। जमीन उनके ही दादा-दादी के नाम है, युवक इसी को लेकर

जमीन विवाद को लेकर बहन सपना उससे बात करने और समझाने के लिए ही धमतरी आई थी। सुरूज के माता-पिता वहीं पास में ही रहते हैं। जबकि दादा-दादी अकेले रहते थे। जमीन उनके ही दादा-दादी के नाम है, युवक इसी को लेकर विवाद करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here