Home छत्तीसगढ़ चिटफंड के प्रकरणों पर तेजी से कार्य करें, 10 दिन में करूंगा...

चिटफंड के प्रकरणों पर तेजी से कार्य करें, 10 दिन में करूंगा समीक्षा : डीजीपी

50
0
  • डीजीपी की पुलिस अधीक्षकों के साथ पहली समीक्षा बैठक
  • स्वदेश संवाददाता, रायपुर

पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा ने राज्य में अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। सोमवार को पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक कर उन्होंने साफ निर्देश दिया है कि चिटफंड प्रकरणों, राजनीतिक एवं आदिवासियों से प्रकरणों की वापसी, गांजा एवं शराब की तस्करी, जुआ-सट्टा जैसे मामलों में गंभीरता से निराकरण करें। उन्होंने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया कि चिटफंड के प्रकरणों पर तेजी से कार्य करें। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं प्रत्येक 10 दिन में समीक्षा करूंगा।

डीजीपी ने पुलिस अधीक्षकों के साथ पहली बैठक पुलिस मुख्यालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की। उन्होंने कहा कि गांजा एवं अन्य मादक पदार्थों की तस्करी के साथ राज्य में होने वाली खपत पर भी विशेष नजर रखें। क्राइम का डेटाबेस सैदव अपडेट रखें। अपराधों, उन पर हुई कार्रवाई एवं लंबित प्रकरणों की जानकारी रखें। अपने जिले के हाट स्पॉट पर विशेष ध्यान दें।

शहर के ऐसे स्थान जहां अपराध ज्यादा घटित होते हैं या ज्यादा संभावनाएं हैं, ऐसी जगहों पर विशेष सतर्कता बरतें। इसके साथ ही ऐसे स्थानों को चिन्हित कर वहां प्रतिदिन शाम को पुलिस की मौजूदगी दिखनी चाहिए। सभी पुलिस अधीक्षक अपने जिलों के थानों का नियमित निरीक्षण करें।

बैठक में एडीजी हिमांशु गुप्ता, आइजी डा आनंद छाबड़ा, एससी द्विवेदी, एमएल कोटवानी, मनीष शर्मा उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों की लिस्ट बनाकर रखें, जो भी ऐसी घटनाओं में संलिप्त पाए जाएं, उन पर सख्त कार्रवाई करें। अपराधियों के संरक्षण और भ्रष्टाचार की शिकायतों पर जीरो टालरेंस की नीति के तहत कार्रवाई की जाए। मतांतरण से जुड़े मुद्दे, सांप्रदायिक घटनाओं, भूमि विवाद जैसे संवेदनशील मामलों पर विशेष सतर्कता के साथ तत्काल कार्रवाई करें।

Previous articleसाल के आखिरी चंद्र ग्रहण का राशियों पर क्या होगा प्रभाव, किस राशि के चमकेंगे सितारे
Next articleउच्च न्यायालय में निलंबित आईपीएस जीपी सिंह के मामले में फैसला सुरक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here