Home छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़: लॉकडाउन में मरीजों के परिजनों को अधिक सरलता से सहायता 24...

छत्तीसगढ़: लॉकडाउन में मरीजों के परिजनों को अधिक सरलता से सहायता 24 घंटे बैड,ऑक्सीजन,दवा, एंबुलेंस वाहन एवं अन्य चिकित्सीय सहायता उपलब्ध

11
0

छत्तीसगढ़ : देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर मार्च-अप्रैल में चरम सीमा में थी,कोरोना महामारी के दौरान मोदी सरकार की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी थी. लेकिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री माननीय भूपेश बघेल जी के इस विषम परिस्थितियों में बेहत्तर प्रबंधन में स्वास्थ्य व्यवस्था बेहत्तर स्थिति में छत्तीसगढ़ एवं बस्तर संभाग के जिले जगदलपुर, कोंडागांव, नारायणपुर, दंतेवाडा, सुकमा व बीजापुर भी कोरोना से अछूते नही रहे है।

इस भयावह परिस्थितियों को देखते हुये हमने कोरोना वालिंटियरों की टीम गठित करने का निर्णय लिया। जिसमें लोगो को 24 घंटे बैड,ऑक्सीजन,दवा, एंबुलेंस वाहन एवं अन्य चिकित्सीय सहायता उपलब्ध कराने हेतु स्वयं एवं टीम के सदस्यों के निजी मोबाईल नम्बरों को सोशल मिडिया,वाट्सअप,फेसबुक आदि के माध्यम से सार्वजनिक किया गया।

इसके साथ ही लॉकडाउन में मरीजों के परिजनों को अधिक सरलता से सहायता उपलब्ध कराने डिमरापाल मेडिकल के सामने अस्थायी कार्यालय“सांसद कोविड जन सहायता केन्द्र”के नाम से दिनांक 26/04/2021को शुरू किया गया। कोरोना महामारी के संकट काल में कोविड पाजीटीव व अन्य मरीजों के परिजनों तथा चिकित्सको के मध्य संवाद नहीं हो पाने से परिजनों को मरीजों की स्वास्थ्य संबंधी जानकारी एवं अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था।

हमारे उक्त केन्द्र के द्वारा चिकित्सको से संवाद करते हुये परिजनों के साथ समन्वय बनाते हुये सेतु के रूप में कार्य किया जिससे कोरोना के मरीजों एवं परिजनों को कोरोना से जंग जीतने में मनोबल बढ़ाने का काम किया प्रदेश एवं जिलों में कम होते कोरोना संक्रमण दरों एवं अनलॉक की स्थिति को देखते हुये “सांसद कोविड जन सहायता केन्द्र” को अस्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिये लेकिन हम यही रूकेगें नही, हर जरूरतमंदों को निरंतर मदद करने का कार्य जारी रहेगा।

स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर जिला स्तरीय समीक्षा बैठक बस्तर जिले में संचालित मेडिकल कॉलेज डिमरापाल, महारानी जिला पाताळ एवं निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट तैयारियों वेंटिलेटर बेड,ऑक्सीजन एवं रेमडिसीवर दवा टेस्टिंग कार्य,सी.टी.स्कैन व अन्य उपकरणों की स्थिति एवं सामान्य वार्ड में सुविधाओं के साथ ही मानव संसाधनों को बढ़ाने आदि.

विषयों पर सासंद बस्तर के नेतृत्व में समस्त विधायकों एवं जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य अमला के साथ दिनांक 29/04/2021 को मेडिकल कॉलेज डिमरापाल में समीक्षा बैठक की एवं छोटे-छोटे समस्याओं का निराकरण करते हुये छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री मान0 श्री भूपेश बघेल जी के निर्देशानुसार DMFT मद से आवश्यक राशि उपलब्ध कराते हुये किसी प्रकार पैसे की कमी नही होने का स्वास्थ्य प्रबंधन को भरोसा दिलायें।

” सांसद कोविड जनसहायता केन्द्र “
कोरोना महामारी के संकट काल में “सांसद कोविड जनसहायता केन्द्र ” की शुरूआत दिनांक 26/04/2021 से लेकर 26/05/2021 तक लगभग 30 दिनों में कुल 300 से अधिक मरीजों को राहत पहुंचाने की प्रयास किये हैं। जिसमें प्रमुख रूप से अस्पताल से संबधित समस्या, निःशुल्क एंबुलेंस,शव वाहन व्यवस्था ,ब्लड़ व्यवस्था आर्थिक,सहायता तथा अन्य व्यवस्थायें शामिल है।

उक्त कार्यों के साथ ही प्रदेश के अन्य जिलों से फोन के माध्यम से सूचना मिलने पर सहायता पहुंचाने का कार्य भी किये। जैसे:बिलासपुर के गुजरात में फंसे परिवार को वापस लाने में मदद ,बिलाईगढ के बच्चों को मदद जिनके माता-पिता कोरोना से जंग हार गये, बस्तर क्षेत्र के 25 नर्सिंग छात्राओं परिवार को उडीसा अस्पताल में आर्थिक सहायता, कुरूद में को राजनांदगांव से घर वापसी जगदलपुर लाने में मदद किये।

इसके अलावा रायपुर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज सुविधा उपलब्ध कराने का कार्य भी किया गया निःशुल्क एंबुलेंस व वाहन उपलब्ध कराना जिला प्रशासन के द्वारा बस्तर को संपूर्ण कंटेनमेंट जोन घोषित होने के कारण आवागमन बंद होने से अस्पताल से डिस्चार्ज हुये बस्तर, दंतेवाडा, सुकमा, कोंडागांव व अन्य जिले के कोविड व सामान्य मरीजों एवं उनके परिजनों को घर वापसी में हो रही असुविधाओं को देखते हुये

” सांसद कोविड जनसहायता केन्द्र ” में निःशुल्क वाहन व्यवस्था की गई,जो कि प्रतिदिन 130 किमी से अधिक औसत से लगभग 30 दिनों में कुल 3,900 किमी से अधिक दूरी तक चली हैं।

बस्तर सांसद के टीम की सराहनीय भूमिकाः- जनता के सुख-दुख में काम आना सभी जनप्रतिनिधियों का प्रथम कर्तव्य होता है,कोरोना के इस संकट काल में एक जनप्रतिनिधि होने के नाते लोगो को ज्यादा से ज्यादा राहत पहुंचाने के उद्देश्य से हमने 50 से अधिक वालिटियर्स की टीम गठित किये,जो 26/04/2021 से प्रतिदिन सुबह 10 बजे से रात्रि 10 बजे तक 12 घंटे के हिसाब से लगातार 30 दिनों तक कुल 360 घंटे तक कोविड सेंटर में उपस्थित होकर राहत पहुंचाने का कार्य करते

मुख्य वालिटियर्स-: मलकीत सिंह गैदू,सुशील मौर्य,श्रीमती कमल झज्ज, सहदेव नाग,अनुराग महतो,सौरभ तिवारी

सहायक वालिटियर्स-: महादेव नाग, केदार ढेक, आशीष मिश्रा, दुर्गेश राय, शेख जाहिद हुसैन, शाहनवाज खान, रोजविन दास, मनोज यादव, श्रीमती अनिता पोयाम, आदित्य बिसेन, हकीम खान, अंकित सिंह, सामेल नाग, माज लिल्लाह, फैसल नवी,लोकेश दुबे, पंकज केंवट, धवज जैन, लाला कर्मा, महेन्द्र बघेल, अभिषेक डेविड, कृष्णा कश्यप, संतोष कश्यप, संस्कार श्रीवास्तव, भंवर, सदन कश्यप, सुरेन्द्र बघेल, राम दुग्गे, नुरेंद्र अयाज खान, अक्षय अग्रवाल, मुन्ना बघेल, जयमन मौर्य, राजेन्द्र बघेल, मोती राजे त्रिपाठी रेहान खान, शादाब अहमद, बस्तर के सभी विधायकगण,महापौर जगदलपुर,जिला कांग्रेस अध्यक्ष (ग्रामीण) नगर निगम सभापति, जनपद अध्यक्ष, पार्षदगण, जनपद सदस्यगण व सरपंचगण एवं जिला महिला कांग्रेस,यूथ कांग्रेस एवं एन.एस.यू.वाई व समस्त कार्यकर्तागण जिन्होने “सांसद कोविड जनसहायता केन्द्र “में उपस्थित होकर प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप में अपना बहुम समय दिया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here