Home छत्तीसगढ़ छत्‍तीसगढ़ में एकसाथ सात खेल अकादमियों की शुरुआत, वर्षों पुरानी मांगे हुईं...

छत्‍तीसगढ़ में एकसाथ सात खेल अकादमियों की शुरुआत, वर्षों पुरानी मांगे हुईं पूरी

43
0

रायपुर। छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों के लिए शनिवार सौगातों भरा रहा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक साथ सात खेल अकादमियों की ऐतिहासिक शुरुआत की। इनमें से बिलासपुर में चार व रायपुर में तीन खेल अकादमी शामिल है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने दोनों में जिलों करीब 42 करोड़ 14 लाख स्र्पये की लागत से नई खेल सुविधाओं का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इनमें मुख्य रूप से फुटबाल, कबड्डी, तीरंदाजी और एथलेटिक्स की अकादमी, दो खेल छात्रावास, एक तीरंदाजी प्रशिक्षण उपकेंद्र और एथलेटिक्स के लिए सिंथेटिक ट्रैक एंड फील्ड शामिल हैं।

इसमें बिलासपुर में एथलेटिक्स, तीरंदाजी और हाकी अकादमी के लिए खिलाड़ियों का राज्य स्तरीय चयन 11, 12 और 13 अक्टूबर को होगा। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में बघेल ने वर्चुअल खेल सुविधाओं का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि राज्य में खेल सुविधाओं के विकास से राज्य के खिलाड़ी देश-दुनिया में छत्तीसगढ़ का नाम रौशन करेंगे। सीएम ने कहा कि यह दिन राज्य के खिलाड़ियों, खेल प्रशिक्षकों, खेल प्रेमियों और युवाओं के लिए बड़ी उपलब्धियों वाला है।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि खेल सुविधाओं के विस्तार के साथ-साथ हमको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि खेलों की सारी गतिविधियां केवल शहरों तक सिमट कर न रह जाएं। गांवों के खेल संस्कार को जीवित रखकर हम शहरों के खेल संस्कार को भी जीवित रख पाएंगे। छत्‍तीसगढ़ राज्य के बड़े शहरों में शुरू की जा रही खेल अकादमियों, खेल के अच्छे मैदानों, अच्छे प्रशिक्षकों और खेल अधोसंरचनाओं का लाभ ग्रामीण प्रतिभाओं को मिलना चाहिए।

याद किया जाएगा मुख्यमंत्री का योगदान

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे खेल मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल के नेतृत्व में राज्य में खेल अधोसंरचना का विकास और खिलाड़ियों को दी जा रही सुविधाओं का सार्थक परिणाम आने वाले समय में मिलेगा। उन्होंने कहा कि जब छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में मेडल जीतेंगे, तो मुख्यमंत्री के योगदान को याद किया जाएगा।

15 साल पुरानी परिकल्पना साकार कर दी: साव

बिलासपुर सांसद अरूण साव ने कहा कि बिलासपुर में खेल प्रशिक्षण अकादमी की 15 साल पुरानी परिकल्पना आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साकार कर दी है। बिलासपुर का यह खेल परिसर क्षेत्र के खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगा।

Previous articleरावणभाठा विद्युत उपकेंद्र में हुआ हादसा, एक की मौत, एक घायल, कनिष्ठ अभियंता निलंबित
Next articleभोपाल एम्स के उप निदेशक एक लाख रुपए की घूस लेते पकड़ाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here