Home छत्तीसगढ़ राशन के इंतजार में रात 9 बजे से लगी थैलों की लाइन,...

राशन के इंतजार में रात 9 बजे से लगी थैलों की लाइन, सुबह 8 बजे दुकानदार ने कहा- टोकन खत्म हो गए, बाद में आना

34
0

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में सरकारी दुकान से राशन लेने से ज्यादा मुश्किल है, इसका टोकन लेना है। कोविड प्रोटोकॉल की दुहाई देकर राशन दुकानों में एक तय सीमा तक ही लोगों को एक दिन में राशन दिया जा रहा है। बाकी के लोगों को अगली तारीख का टोकन दिया जा रहा है। अब बड़ी तादाद में लोग टोकन लेने पहुंचते हैं ताकि तय तारीख को आकर राशन ले सकें।

संतोषी नगर से लगे गोकुल नगर की राशन दुकान के बाहर सोमवार की रात 9 बजे से थैलों के साथ लोगों का आना शुरू हुआ। उन्होंने दुकान के बाहर थैलों को लाइन से रखना शुरू किया। बंद दुकान के बाहर रात 12 बजे तक थैलों की तादाद बढ़ी और सुबह 7 बजे तक 200 से अधिक झोले सड़क पर ‘गरीबी की रेखा’ बनकर पड़े नजर आए।

ये हो रहा दुकानों के बाहर
गोकुल नगर राशन दुकान के बाहर सोमवार रात 9 बजे से झोला रखकर घर गए लोग सुबह 5 बजे से यहां आने लगे। सुबह 8:15 पर दुकानदार ने राशन दुकान खोली और बाहर खड़े लोगों के पास आया। लोग टोकन मांगने लगे दुकानदार ने कह दिया कि 12 तारीख से 19 तारीख तक के लिए मैं टोकन बांट चुका हूं, अब नया टोकन 20 तारीख के बाद ही मिलेगा। सुबह 5 बजे से टोकन के लिए आए लोगों को 4 घंटे इंतजार के बाद खाली हाथ घर लौटना पड़ा।

दुकान के बाहर कुछ लोग राशन लेते नजर आए लेकिन ये वो लोग थे जिन्हें पहले टोकन मिल चुका था। उधर, खाली हाथ लौट रहे लोग कहते रहे कि ये बात अगर दुकान के बाहर सूचना बोर्ड पर लिख दी जाती तो हम दुकान में आते ही नहीं।

पूरे मामले पर अपनी सफाई में राशन दुकानदार ने बताया कि उसकी दुकान पर 2300 लोगों के कार्ड हैं। 12 तारीख से 19 तारीख तक के बीच 500 लोगों को टोकन बांटे जा चुके हैं। इन्हें पूरा करने के बाद ही नया टोकन दे पाउंगा, करीब 1400 लोगों को टोकन बांटा जा चुका है। बचे लोगों को 20 तारीख से टोकन देंगे।

ये है इंतजाम
19 अप्रैल से जिले की 113 , 23 अप्रैल से 113 , 27 अप्रैल से 187 और 28 अप्रैल से 169 राशन दुकानों के जरिए राशन वितरण हो रहा है। लॉकडाउन के दौरान शासकीय उचित मूल्य दुकानों के खोलने का समय सुबह 7 से शाम 5 बजे तक तय है। हर दिन 75 लोगों को टोकन जारी करके राशन देना है। मई और जून दोनों महीनों का राशन BPL राशनकार्ड वालों को एक साथ दिया जा रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री की चिंता सार्वजनिक वितरण प्रणाली को लेकर किया ट्वीट

Previous articleगांववालों का आरोप- नक्सली नहीं, जवानों ने फायरिंग की थी; 9 लोग मारे गए, कई घायल
Next article15 ऑक्सीजन सपोर्ट और 19 आइसोलेटेड बेड, नारायणपुर में 18+ वैक्सीनेशन के लिए लोक सेवा केंद्रों पर फ्री रजिस्ट्रेशन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here