Home छत्तीसगढ़ बढ़ गई पेट्रोल और डीजल कीमतें: रायपुर में पेट्रोल 91 के पार...

बढ़ गई पेट्रोल और डीजल कीमतें: रायपुर में पेट्रोल 91 के पार पहुंचा, अब किराना सामान और सब्जियों के दामों पर पड़ेगा महंगाई का असर

16
0

छत्तीसगढ़, रायपुर में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ गए हैं। लगभग 20 दिन पहले 89 रुपए प्रति लीटर में मिल रहा सामान्य पेट्रोल अब 91 रुपए प्रति लीटर में बिक रहा है। रायपुर के टिकरापारा स्थित हरचंद पेट्रोल पंप के संचालक ने बताया कि एक दिन की आड़ में लगभग 20 से 30 पैसे प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़ रही है। इस वक्त रायपुर में एक्सट्रा प्रीमीयम पेट्रोल 94 रुपए प्रति लीटर और डीजल 90 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है।

हर दिन बढ़ गई पेट्रोल और डीजल कीमतें
हर दिन सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। हालांकि कई बार कोई बदलाव नहीं होता। मगर इंडियन ऑयल इसी वक्त नई कीमतों का अपडेट जारी करता है। पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम तय होता है। डीलर पेट्रोल पंप चलाने वाले लोग हैं। वे खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचते हैं। पेट्रोल रेट और डीजल रेट में यह कॉस्ट भी जुड़ती है।

कंपनियां बढ़ा रही कीमत
किराना सामान और सब्जियों के दामों पर भी पेट्रोल-डीजल की कीमतें असर डाल रही हैं। रायपुर के किराना व्यवसायी और चेंबर ऑफ कॉमर्स के जितेंद्र बरलोटा ने बताया कि चीजों के दाम आए दिन बढ़ रहे हैं। बड़ी कंपनियां चुपके से MRP में बदलाव कर रही हैं। कुछ ब्रांड के बाथ सोप में 5 रुपए तक दाम बढ़ गए हैं। बर्तन धोने के साबुन पर भी अब दो रुपए बढ़कर MRP प्रिंट आ रही है। खाने के तेल की कीमतों पर भी लॉकडाउन और पेट्रोल-डीजल के दामों का असर पड़ा है। 1800 रुपए में बिकने वाला सन फ्लावर तेल का टीपा अब 2600 रुपए में बिक रहा है। चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष अमर परवानी ने बताया कि बहुत सी चीजों के दामों पर फौरन असर नहीं पड़ता मगर दाम तो बढ़ते ही हैं।

GST के दायरे में लाने की मांग
चैंबर ऑफ कॉर्मस के अध्यक्ष अमर परवानी ने कहा कि हम पेट्रोलियम मंत्रालय से लगातार इस बात की मांग कर रहे हैं कि पेट्रोल को GST के दायरे में लाया जाए। इससे कीमत कम होगी। आम ग्राहकों पर पेट्रोल की कीमतों की वजह से बढ़ने वाली महंगाई का असर भी कम पड़ेगा। इस पर हाल ही में एसबीआई इकोनोमिस्ट ने एक विश्लेषणात्मक रिपोर्ट में यह बात कही कि दिल्ली में पेट्रोल को अगर माल एवं सेवाकर (जीएसटी) के दायरे में लाया जाता है तो इसका रीटेल भाव इस समय भी कम होकर 75 रुपये प्रति लीटर तक आ सकता है। इस पर केंद्र सरकार जीएसटी काउंसिल की बात-चीत जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here